दहेज के लिए विवेकानंद की अंशु को घर से निकाला, सपरिवार मामला दर्ज - Shivpuri News

शिवपुरी। कोतवाली क्षेत्र के विवेकानंद कॉलोनी में रहने वाली एक महिला को सीहोर के आष्टा निवासी ससुरालीजनों ने दहेज की खातिर उसे मारपीट कर घर से भगा दिया। तब से ही वह अपने पिता के घर रह रही है। आरोपी विवाह के बाद से ही उससे दहेज की मांग कर रहे थे और लगातार उसे मानसिक और शारीरिक प्रताडऩा दे रहे थे। पुलिस ने मामले में फरियादिया के पति प्रताप राठौर, सास हेमलता राठौर, ससुर कमलेश राठौर, जेठ संदीप, जेठानी दिव्यांशी और देवर अभिषेक के खिलाफ भादवि की धारा 498ए सहित 3/4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

फरियादिया अंशु राठौर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका विवाह 15 जून 2020 में आष्टा निवासी प्रताप पुत्र कमलेश राठौर के साथ हिंदू रीति रिवाज से सम्पन्न हुआ था, उस समय उसके पिता ने अपनी हैसियत के हिसाब से दान दहेज देकर विदा किया। शादी के कुछ दिन तक तो ससुराल वालों ने उसे अच्छे से रखा, उसके बाद उससे दहेज की मांग करने लगे।

जब उसने दहेज देने से इंकार कर दिया तो वह उसे शारीरिक व मानसिक रूप से परेशान करने लगे। बीते 15 मार्च को आरोपियों ने उसकी मारपीट कर उसे यह कहते हुए घर से निकाल दिया कि जब तक वह दहेज की रकम न लाए तब तक घर की चौखट पर पैर न रखे।
 
ससुरालीजनों द्वारा घर से भगाए जाने के बाद वह शिवपुरी के विवेकानंद कॉलोनी निवासी अपने पिता मुकेश राठौर के घर आ गई। इस दौरान पिता ने भी आरोपियों से काफी मिन्नतें की। लेकिन वह प्रयास में सफल नहीं हुए। अंत में हार तक कर पीडि़ता ने आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने का मन बनाया और सोमवार को कोतवाली पहुंचकर उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज करा दिया।