एक ही बारिश में बह गए पंचायतों के विकास: सामने आ गया पंचायत स्तर से लेकर अधिकारियो का भ्रष्टाचार - Shivpuri News

शिवपुरी। वर्ष 2019-20 में मनरेगा योजना के तहत करैरा ब्लॉक की बरौदी ग्राम पंचायत में बनाए 6.93 लाख रुपए की लागत से चेक डैम पहली ही बारिश में बह गया। इसके बाद भी जिम्मेदार अधिकारी ग्राम पंचायत के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच नहीं कर रहे हैं। सरपंच सूरजभान और सचिव इमरत लोधी के द्वारा इस कार्यकाल में ग्राम पंचायत में इन चेक डैमो का का निर्माण कराया गया था।

इसमें एक चेक डैम हल्की-फुल्की बारिश के पानी के बहाव से चेक डैम टूट गया। गौरतलब बरौदी पंचायत में सत्र 19 और 20 में महुअर नदी के नालों पर बने जनहित के लिए आधा दर्जन चेक डेम निर्माण हुए थे। सह सचिव के अनुसार प्रत्येक चेक डैम की 6.93 लाख लागत है। जबकि ग्राम पंचायत के सचिव इमरत लाल का कहना है कि बारिश ज्यादा होने के कारण चेक डैम पानी में बह गए हैं इसलिए अब हम उन्हें दुरुस्त करा देंगे।

ग्राम पंचायत बरौदी के सचिव इमरत लोधी का कहना है कि हमने वर्ष 2019-20 में चेक डैम का निर्माण कराया था, लेकिन बारिश ज्यादा होने के चलते बह गया है। हम उन्हें दुरुस्त करा देंगे। वहीं करैरा एसडीएम अंकुर गुप्ता का कहना है कि मैं जनपद सीईओ को फोन कर के चेक डैमो की स्थिति दिखवाए लेता हूं।