गांवों में अभी भी जारी है 'लोटा-पार्टी': करोड़ों रुपए खर्च होने के बाद भी अधूरे शौचालय, फर्जी घोषित ODF - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में अभी लोटा पार्टी जारी हैंं। स्वचछ भारत अभियान के तहत करोडो रूपए फूकने के बाद भी जिले की लगभग सभी पंचायतो में शौचालयो का निर्माण पूरा नही हुआ है। जिले की कई पंचायतो को ओडीएफ का दर्जा दिया जा चुका हैं ऐसी पंचायतो में भी लोटा पार्टी जारी हैं।

पिछोर में आया था सामने करोड़ों का घोटाला

पिछोर जनपद पंचायत में करोडों रूपए का घोटाला अभी हाल ही में सामने आया था जहां हितग्राहियों के खाते में शौचायल की राशि डालने की वजाय अपने चहेतों के खाते में राशि डालकर करोडों रूपए का फर्जी भुगतान अधिकारी ने कर लिया था। जबकि कई पंचायतों में आज भी शौचालय ही अधूरे हैं ऐसे में हितग्राही पैसों की बांट जोह रहे हैं लेकिन अधिकारी और सरपंच सचिव पैसा डकार रहे हैं।

मंत्री के गांव में ही घटिया निर्माण

शिवपुरी की पोहरी विधानसभा से राज्यमंऋी सुरेश रांठखेडा के गांव रांठखेडा की बात करें तो यहां भी घटिया शौचालय बनवाए गए। जिसका खामियाजा आदिवासी बच्चों को उठाना पडा और शौचालय के धसकने से तीन बच्चों की मौत हो गई। इन शौचालयों को बनबाने का काम मंत्री के ही रिश्तेदार ने किया था।

शौचालयों में भर दिए कंडे और लकडी

पिछोर अनुविभाग के ही कई गांवों में शौचालयों में कंडें और लकडी भरने की खबरे सामने आई थी इससे साफ है कि लोग शौचालयों का उपयोग ही कर रहे हैं और जहां हो रहा है वहां इनको इतना घटिया बनाया गया है कि कहीं दीवार ही टूट गई तो कहीं शीट ही फिट नहीं कराई हैं।

कोलारस और बदरवास में तो पंचायतें ही खा गई राशि

कोलारस और बदरवास जनपद पंचायत की ग्राम पंचायतों की बात करें तो यहां पंचायतों के द्वारा जो शौचालय बनवाए गए थे उनमें किेसी में गेट नहीं था तो किसी में शीट ही नहीं तो किसी का गडडा ही नहीं खोदा गया था ऐसे में कई बार शिकायतों के बाद सरपंचों का कार्यकाल बदल गया तो सचिवों का ट्रांसफर हो गया।

खुले में शौच से मुक्त पंचायतें, लोटा भारी

शिवपुरी जिले की अधिकतर ग्राम पंचायतों को ओडीएफ यानि खुले में शौच से मुक्त कर दिया है लेकिन अब भी कई पंचायतों में लोगों को लोटा इतना पसंद है कि वह लोटा लेकर ही जा रहे हैं।

यह बोले CEO

यह मामला आपने बताया है कि हम दिखवा रहे हैं कि कहां लापरवाही हुई है और शौचालयों को पूरा नहीं बनवाया है उन्हें पूरा बनवाएंगे। यदि कोई रिश्वत मांग रहा है तो उसकी शिकायत करें तो कार्रवाई की जाएगी।
एचपी वर्मा, सीईओ जिला पंचायत शिवपुरी