बहादुर बेटी के हौंसेले के कारण बडी पिता की हिम्मत, टूटा घर में घुसे हथियार धारी बदमाशों का हौंसला - narwar News

नरवर। हौसले और हिम्मत से भरी खबर जिले के मगरौनी कस्बे से आ रही हैं कि 61 वर्षीय बुर्जुग के घर में 3 बदमाश लूट के इरादे से घुस आए,जिसमें 2 बदमाशो पर हथियार थे,लेकिन घर की बेटी ने एक बदमाश का हथियार पकड लिया,बेटी के इस हिम्मत को देख बुर्जुग पिता ने भी दूसरे बदमाश से उलझ गए और उसका हथियार छिना लिया। इस अफरा तफरी मे बदमाशो की हिम्मत जबाब दे गई और बदमाश घर से भाग गए और मगरौनी क्रस्बे में बडी वारदात होने से टल गई।

जानकारी के अनुसार सेवा सहकारी संस्था मगरौनी के प्रबंधक रामेश्वर दयाल माथुर उम्र 61 वर्ष ने बताया कि वे घर में पत्नी मनोरमा माथुर उम्र 56 साल और बेटी गुंजा माथुर उम्र 34 साल के संग थे, तभी कट्‌टा लेकर बदमाश आ धमके। सबसे पहले बेटी गुंजा गई तो एक बदमाश ने कट्‌टा दिखाकर डराने की कोशिश की लेकिन बेटी ने तुरंत ही उसका कट्टा पकड़ लिया।

बेटी के चिल्लाने की आवाज आई तो पिता तुरंत उठकर आए और देखा कि गुंजा बदमाश का कट्टा पकड़े हुए है। वे तुरंत माजरा समझ गए और दूसरे बदमाश पर छपटकर उसका कट्टा पड़ लिया। पिता और बेटी दोनों ने कट्‌टे नहीं छोड़े तो छीना छपटी होने लगी। इस संघर्ष को देखकर बदमाशों के हौंसले कमजोर पड़ गए।

बदमाश ने अपना कट्टा छुडाने के लिए हाथ में काटा.....

जिस मजबूती से गुंजा माथुर ने कट्टा पकड़ा था, उसे छुड़ाने में बदमाश के पसीने छूट गए। कुछ नहीं सूझा तो गुंजा की बाएं हाथ में दांतों से काट खाया और कट्‌टा छीनकर भाग खड़ा हुआ। इसी बीच दूसरा बदमाश भी रामेश्वर दयाल से कट्‌टा छीनने में असफल रहा और कट्‌टे के छोड़कर ही भाग गया। तीसरा बदमाश भी संग चला गया। इस तरह बड़ी वारदात होने से टल गई। बाद में देखा तो फर्श पर दो जिंदा राउंड पड़े थे, जो कट्‌टे से छीना छपटी में निकलकर गिर गए थे।

बदमाशों के भागने के बाद रामेश्वर दयाल ने मगरौनी चौकी पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने छानबीन की, लेकिन बदमाशों का पता नहीं चला है। घटना 6 जून की रात 8:15 बजे की बताई गई है।