Good News: मेडिकल कॉलेज में शुरू होने वाली है ओपीडी, मात्र 10 रूपए में होंगी हजारो में होने वाली जांचे

शिवपुरी। खबर जिले के 20 लाख की आबादी से जुडी हुई गुड न्यूज हैं। शिवपुरी के मेडिकल कॉलेज में एक पखवाडे में ओपीडी शुरू होने वाली हैै। इसकी तैयारियां अंतिम चरण हैं। आपको इलाज के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर तो उपलब्ध होगें ही साथ में मात्र 10 रूपए में वह जांचे नि:शुल्क होगी जिन जांचो को प्राईवेट कराने पर हजारो रूपए खर्च होते हैं। कुल मिलाकर इलाज में होने वाले कई परिवारो का बजट कट हो जाऐगा।

मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. अक्षय निगम का कहना है कि ओपीडी शुरू करने के लिए लगातार प्रयास कर रहे थे। इसी बीच कोरोना संक्रमण इतना अधिक फैल गया कि ओपीडी शुरू नहीं कर सके, लेकिन कोविड मरीजों की जांच से लेकर इलाज तक कॉलेज में किया गया। अब जल्द ओपीडी शुरू करने की तैयारी है।

प्रदेश की खेल मंत्री और जिले की कोविड प्रभारी मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया लगातार स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर जिले की मॉनिटरिंग कर रही हैं। इस दौरान जब मरीजों का दबाव अधिक बड़ा तो उन्होंने जिला अस्पताल के साथ मेडिकल कॉलेज में कोविड वार्ड और इलाज की शुरुआत कराई। इसका नतीजा यह निकला कि गंभीर मरीजों को शिवपुरी से ग्वालियर रैफर करने की कम जरूरत पड़ी।

ऐसे मरीजों को मेडिकल कॉलेज में रैफर कर इलाज किया गया। अब कॉलेज में ओपीडी शुरू हो जाने से जिला अस्पताल से मरीजों का दबाव कम होगा। अभी जिलेभर की 20 लाख की आबादी का दबाव जिला अस्पताल पर ही है।
मेडिकल कॉलेज में कई ऐसी जांचें भी हो रहीं जो ग्वालियर और चंबल संभाग के किसी भी सरकारी अस्पताल में नहीं होतीं

मेडिकल कॉलेज के बायोकेमिस्ट्री विभाग के प्रमुख डॉ. शशांक त्यागी और पैथोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ. अपराजिता तोमर का कहना है कि शिवपुरी मेडिकल कॉलेज पैथोलॉजिकल जांचों का बड़ा केंद्र बन गया है। यहां वे सब जांच हो रही हैं जो ग्वालियर चंबल संभाग में शासकीय स्तर पर कहीं नहीं होतीं।

यह होगी 10 रूपए के पंजीयन पर जांचे

शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में टी-3, टी-4, टीएसएच, प्रोलेक्टिन हार्मोन, डी-12, कैल्शियम जैसी जांच शुरू हो गई है। वहीं कैंसर की पहचान के लिए एफएनएसी,बायोप्सी,मैमोग्राफी जैसी सुविधा भी शुरू हो गई है। मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस पहचान के लिए भी टेस्टिंग भी शुरू हो गई है।

700 एमए की एक्स-रे मशीन आई, सोनोग्राफी भी हो सकेगी

मेडिकल कॉलेज में 700 एमए की एक्स-रे मशीन आई है जिससे डीआर और सीआर स्तर की सभी जांचें हो सकेंगी। इसके साथ ही सोनोग्राफी मशीन भी आ गई है। आगामी चरण में यहां सीटी स्कैन मशीन लगने वाली है। खेल मंत्री यशोधरा राजे की मांग पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे स्वीकृत कर दिया है। संभवत: 2 महीने में यह मेडिकल कॉलेज में स्थापित हो जाएगी।

इलाज के लिए हमारे पास विशेषज्ञ डॉक्टरों की बड़ी टीम

पहले चरण में हमने मैमोग्राफी, ब्लैक फंगस और हार्मोनल जांच शुरू कर दी है। अब लोग ग्वालियर जाने की परेशानी से बच सकेंगे। हमारे पास कैंसर विशेषज्ञ, चर्म रोग विशेषज्ञ, मनोवैज्ञानिक, आंख, नाक-कान-गला रोग विशेषज्ञ सहित विभिन्न बीमारियों के विशेषज्ञों की एक बड़ी टीम है। आगामी 15 दिन में मेडिकल कॉलेज में ओपीडी शुरू करने की स्थिति में आ जाएंगे। डॉ. अक्षय निगम, डीन, शासकीय मेडिकल कॉलेज, शिवपुरी