CDPO ने पकाई फर्जी नियुक्ति: जेठानी की मौत के बाद देवरानी की अनुकंपा नियुक्ति पर मचा बवाल - Shivpuri News

पिछोर। एकीकृत बाल विकास परियोजना पिछोर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की मौत होने पर उसकी देवरानी को अनुकंपा नियुक्ति दे दी गई है। परिवार अलग होते हुए भी देवरानी को अनुकंपा नियुक्ति देने पर वार्ड की जनता विरोध में उतर आई है। अनुकंपा नियुक्ति देने वाले सीडीपीओ के खिलाफ एसडीएम पिछोर को शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी हो कि वार्ड नंबर 4 में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के पद पर ममता मांझी पत्नी रवि मांझी कार्यरत थी, लेकिन 3 मई को उनकी मौत हो गई। परिवार में पति सहित दो नाबालिग बच्चे हैं और परिवार आईडी 43392037 भी अलग बनी है। लेकिन महिला एवं बाल विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने मृतिका ममता की देवरानी पूजा पत्नी कुलदीप मांझी को उत्तराधिकारी मानकर अनुकंपा नियुक्ति दे दी।

जबकि पूजा का परिवार अलग है और उसकी परिवार आईडी 44046882 है। वार्ड के लोगों ने एसडीएम से शिकायत कर कहा है कि ममता मांझी की अनुकंपा नियुक्ति फर्जी दस्तावेज और नियमों के तहत नहीं की गई है। मामले में कलेक्टर को भी शिकायत भेजी है। वहीं आवेदन पत्र सहित संलग्न दस्तावेज व नियुक्ति पत्र मांगने पर परियोजना अधिकारी अरविंद तिवारी टालते नजर आए।

मामले की जांच कर नियुक्ति निरस्त करेंगे

मृतक कार्यकर्ता ममता मांझी के परिजन ने दस्तावेज उपलब्ध कराए थे, उसी के आधार पर देवरानी पूजा मांझी को अनुकंपा नियुक्ति दी है। यदि दस्तावेजों में त्रुटी है तो जांच कर नियुक्ति निरस्त करेंगे। अरविंद तिवारी, परियोजना अधिकारी, एकीकृत बाल विकास परियोजना पिछोर

मुझे जानकारी नहीं

मुझे प्रकरण की जानकारी नहीं है। नियुक्तकर्ता सक्षम अधिकारी परियोजना अधिकारी पिछोर है। इस मामले में गड़बड़ी के संबंध में आपसे पता चला है, इसको दिखवाता हूं।
देवेंद्र सुंदरियाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग शिवपुरी

कार्रवाई की जाएगी

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पद पर गलत नियुक्ति का मामला मेरे संज्ञान में नहीं है, मामला सामने आने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी। राजन नाड़िया, एसडीएम पिछोर