फैल रही कोरोना महामारी को लेकर सजग और जागरूकता की है आवश्यकता: सुश्री इंदु जैन - Shivpuri News

शिवपुरी। आज जहां एक तरफ कोरोना जैसी महामारी फैल रही है वहीं दूसरी तरफ कोरोना से स्वस्थ हुए लोगों के अंदर ब्लैक फंगस का खतरा बढ़ता जा रहा है, जनता में एक भयाभय स्तिथि फैल चुकी है, ऐसे में लोगों में एक नया डर 5जी को लेकर पैदा हो रहा है, इन हालातों में परिवार के परिवार खत्म हो रहे हैं, मेरा सभी से निवेदन है इस महामारी का डर मन में ना लाये बल्कि डटकर मुकाबला करें यह एक कुदरती परीक्षा हैं।

जिसमें हम सबको एकजुट होकर सामना करना है, एक दूसरे की मदद करना है और सबको सुरक्षित रखना है, ऐसे में सभी लोगों को समझदारी से काम लेना होगा, परिवार का एक व्यक्ति भी संक्रमित होता है तो पूरे परिवार के लिए खतरा बनता है ऐसे में कोई भी बाहर ना निकले खुद की सुरक्षा मतलब पूरे परिवार की सुरक्षार।

उक्त संवेदनशील अपील की महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुश्री इंदु जैन ने जिन्होंने प्रेस को जारी अपनी अपील के माध्यम से आमजन से कोरोना नियमों का पालन करने का आह्वान किया तो वहीं फैल रही कोरोना महामारी की रोकथाम को लेकर सजग और जागरूकता की आवश्यकता भी बताया।

अपनी संवेदनशील पूर्ण अपील में सुश्री इंदु जैन ने कहा कि जहां एक ओर देश, राज्य, जिले, शहर व गांव इस कुदरती महामारी से ग्रसित हैं, वहीं दूसरी ओर गरीब जनता जिसके यहां एक वक्त का भोजन तक नहीं बन रहा, ऐसे मजदूर वर्ग, गरीबी रेखा से नीचे के परिवार की सोचि वह लोग खाना ना मिल पाने की वजह से भूखों मर रहे हैं, कंट्रोल राशन की दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं और कंट्रोल वाले कहते हैं कूपन लाये, ऐसे में बेचारे क्या करें? इस तरह की समस्याऐं भी आए दिन सामने आ रहीं है।

ऐसे में प्रशासन अच्छा काम कर रहा है अच्छे कदम भी उठाए हैं लेकिन वर्तमान समय में वार्ड प्रभारियों को राशन की जिम्मेदारी सौंप तो दी लेकिन उसका धरातल पर सही उपयोग नीं हो पा रहा है यही कारण है कि गरीब जनता को इस बात की जानकारी ना होने की वजह से उन्हें राशन नहीं मिल रहा, इन हालातों के मद्देनजर महिला कांग्रेस जिला प्रशासन से निवेदन करती है कि सभी 39 वार्ड प्रभारियों को आदेश दिए जाये कि वह अपने वार्डो के गरीब परिवार जो पात्रता में आते हैं उन्हें सही जानकारी दें औऱ उनके लिए राशन उपलब्ध कराने में उनकी मदद करे।

अंत में उन्होंने कहा कि जहां एक तरफ महामारी, भूख से ग्रसित हो रही है जनता वहीं दूसरी ओर महंगाई की मार जनता सहन कर रही है, लॉक डाउन के चलते रोज कमाने वाले, मध्यम वर्ग, निम्नस्तर वर्ग, गरीबी रेखा से नीचे के परिवारो की अर्थव्यवस्था बिगाड़ गई है और सरकार जरूरतों के समान फल, सब्जी इत्यादि को महँगा करती जा रही है, अरे! जनता सरकार क्यूँ चुनती है, जिससे आपातकालीन परिस्थिति में जनता को हर सम्भव मदद मिल सके, पर यहां तो मदद की जगह लूटमार मची हुई है।

उन्होंने सरकार से मांग की है कि सरकार द्वारा कैसे भी करके अपने प्रबंध सुचारू रूप से किया जाना चाहिए जिससे लोग खुश रह सके और जल्दी ही इन समस्याओं से बाहर निकल सके। यह विपदा का समय है और सरकार को विपदा के समय आमजन की सहायता के लिए आगे आना चाहिए और जरूरतमंद को आवश्यकता की पूर्ति हो ऐसे प्रबंध किए जाने चाहिए।