करोड़ो रूपये के डिब्बे का अवैध करोबार, इसकी अय्याशी के चर्चे हैं पूरे शहर में: पढ़िए कौन है यह - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर में इन दिनो अवैध डिब्बा कारोबार चरम पर हैं। बैराड निवासी एक तिलकधारी अग्र समाज का पूर्व अध्यक्ष शिवपुरी में प्रतिमाह लगभग 50 करोड रूपए का कारोबार कर रहा हैं पहले तो इस कारोबार का कुछ हिस्सा वकायदा नंबर एक में चलता था लेकिन अब यह कारोबार पूरा अवैध चल रहा हैंं। और यह तिलकधारी डिब्बे अपने अवैध पैसो के दम पर शहर की युवतियो की जिंदगी बर्बाद कर रहा हैं।

जैसा कि विदित हैं कि पूर्व में इस कारोबार के आफिस होते थे,लेकिन वर्तमान में यह कारोबार चोरी छुपे हो रहा हैं। जानकारी मिल रही हैं इस कारोबार का अग्र समाज का पूर्व अध्यक्ष संचालित कर रहा हैं। इसका प्रतिमाह लगभग 50 करोड का कारोबार हैं,इस कारोबार को अवैध संचालित होने के कारण शासन को लाखो रूपए का टैक्स का चूना लग रहा है।

इस कारोबार को संचालित करने वाले सेठ शासन को तो चूना लगा ही रहा हैं। अपने पैसे की दम पर यह अग्र समाज का अध्यक्ष भीे बन चुका हैं। यह तिलकधारी कारोबारी केवल अपने काले कारोबार के कारण के अतिरिक्त अपनी अययाशियो के कारण भी चर्चा में रहता है। बताया जा रहा है कि इस कारोबारी के कारण कई परिवार टूट चूके हैं बताया तो यहां तक जाता हैं कि इसके फोन में कई अपत्तिजनक वीडियो शहर की इसी की युवतियो की कैद है।

पैसे के जाल में फसता हैं यह युवतियो को अनुपम सेठ

बताया जाता हैं कि यह सुंदर सा दिखने वाला नाम का नवयुवक अपने पैसो के दम पर युवतियो का शिकार करता है ओर अपने जाल में फसता हैं। इस सेठ का गुना की युवती का काण्ड तो जगजाहिर हो चुका हैं। समाज के सभी बंधु इस काण्ड से परचित है कि कैसे इस काण्ड वीर ने इस लडकी का दैहिक शोषण किया था इस कारण उसकी विवाहिक जिंदगी वीरान हो गई और तलाक तक हो गया।

इस मासूम से दिखने वाले सेठ का नाम हैं अनुपम,अगर अनुपम नाम के पर्यावची लिखे तो वे होते हैंं अनुपम | अद्वितीय | बेजोड़ | उपमा-रहित | अनूठा | अनोखा | निराला | अतिसुंदर| जितने नाम इसके पर्यावाची शब्द में आते हैं वैसा ही इसका चरित्र हैं,लेकिन समाज हित में नही समाज को बदनाम करने में।

यह अनेखे रूप से समाज को बदनाम करता है। अग्र समाज का अध्यक्ष बना तो युवतियो को फसाने के लिए अनोखी योजनाए बनता है। पहले तो आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की खोज करता हैं उसके किसी परिजन को फसा कर उसे डिब्बे का सट्टा खिलवाता था और कर्जा देता था फिर उस परिवार पर अपने पैसो की दम पर उस परिवार की युवती पर कब्जा।

अगर इसके मोबाईल को जब्त कर उसकी रिर्काडिंग खगांली जाए तो आप सच मानिए इसके मोबाईल में शहर की स्वयं के समाज और अन्य समाज की युवतियो की अपत्तिजनक समाग्री कैद है। जिसके दम पर यह युवतियो को ब्लैकमेल करता हैं।

हालाकि अभी इस पर किसी भी प्रकार की कानूनी कार्रवाई नही हुई युवतिया और सभ्य समाज के सभ्य परिवार अपनी बदनामी के कारण खुलकर सामने नही आ रहे है। लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि इससे पीडित एक परिवार कभी भी पुलिस के पास जा सकता है।