CM Helpline को भी हैल्प की जरूरत,प्यासे को पानी भी नही पिला पा रही हैं हैल्पलाईन

शिवपुरी। 181 सीएम हेल्पलाइन इसलिए शुरू की गई थी कि लोगों की समस्याओं का समाधान समय पर हो सके लेकिन 181 पर ही लोगों की समस्याओं के समाधान में समय लग रहा है। वह भी एक  दो हफते नहीं दो से चार महीनों बाद लोगों की समस्याओं का निराकरण हो रहा है।

ऐसे में शिकायतकर्ता इसे दिखावा बता रहे हैं।
सीएम हेल्पलाइन इसलिए शुरू की गई थी कि जिससे लोगों की समस्याओं का त्वरित निराकरण हो सके। चाहे वह शिकायतें राजस्व विभाग की हो और फिर बिजली और अन्य विभागों की। लेकिन आज भी सरकारी मशीनरी के काम का तरीका बाबा आदम के जमाने जैसा है।

नल कनेक्शन के लिए भटक रहे लोग
शिवपुरी नपा में लोगों ने मडीखेडा योजना के तहत नल के कनेक्शन के लिए आवेदन दिए और 2700 रूपए की रसीदें भी कटवाई लेकिन नपा के कर्मचारी और ठेकेदारों का आलम यह है कि 20 से 25 दिन बीत जाने के बाद भी नल कनेक्शन नहीं दिए गए जिसके बाद लोगों ने 181 पर शिकायत की लेकिन अब तक उन्हें नल कनेक्शन का इंतजार है।

तहसीलों में कई बंटवारें और नामांतकरण के प्रकरण पेंडिंग
जिले की तहसीलों में काम की रफतार कछुआ गति से हो रही है। यहां नामांतरण और  बंटवारें के लिए कई लोगों ने आवेंदन देकर शुल्क जमा करा दी लेकिन अब तक न तो पटवारी औश्र न ही आरआई को फुर्सत है कि वह लोगों के काम कर सके।  इसके बाद लोगों ने 181 का सहारा लिया लेकिन 4 माह बाद भी लोग तहसीलों के चक्कर काटने को मजबूर हैं।