एक चीरा और आंखों की रोशनी वापस, 70 वर्षीय वृद्ध को किया डॉ.ऋतु ने ऑपरेशन - Shivpuri News

शिवपुरी। एक चीरा और एक 70 वर्षीय वृद्ध की आंखो की रोशनी वापस,दरसल अपनी आंखो से दिखाई न देने की परेशानी को लेकर अपनी आंखो की जांच कराने के लिए अपनी बहू के साथ जिला अस्पताल पहुंची। मेडिकल कॉलेज की महिला नेत्र रोग विशेषज्ञ डाॅ ऋतु चतुर्वेदी ने ओपीडी में परीक्षण किया तो मोतियाबिंद के साथ-साथ आंखों में काला पानी की शिकायत थी।

रामश्री गुर्जर उम्र 70 साल पत्नी जवाहर सिंह गुर्जर निवासी ग्राम सुभाषपुरा तहसील शिवपुरी को लंबे समय से दोनों आंखों से दिखाई देना बंद कर दिया था। रामश्री को उसकी बहू जिला अस्पताल शिवपुरी लेकर आई जहां परीक्षण करने पर मोतियाबिंद के साथ काला पानी पाया गया। नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ ऋतु चतुर्वेदी ने ऑपरेशन के लिए रामश्री गुर्जर को भर्ती किया और बुधवार को एक आंख का सफल ऑपरेशन कर दिया है। अब 15 दिन बाद दूसरी आंख का ऑपरेशन किया जाएगा और रामश्री बाई फिर से देख सकेंगी।

दो चीरे लगाने पड़ते हैं, लेकिन यहां एक ही चीरे से ऑपरेशन हुआ

मोतियाबिंद के साथ काला पानी पाए जाने पर अक्सर दो चीरे लगाने पड़ते हैं, तब जाकर ऑपरेशन सफल हाे पाता है। लेकिन यहां एक चीरा लगाकर ऑपरेशन करना एक तरह से नई पद्धति है। मरीज उम्रदराज होने के कारण कालापानी होने पर ऑपरेशन मुश्किल हो जाता है।

अक्सर कालापानी के ऑपरेशन ग्वालियर, भोपाल, इंदौर और अन्य महानगरों में ही संभव होते हैं। लेकिन अब मेडिकल कॉलेज खुलने के बाद अब गरीब तबके के मरीजों को बाहर जाने की जरूरत नहीं है। अभी तक 5-6 मरीजों को काला पानी की शिकायत के बाद ऑपरेशन किए जा चुके हैं।

आंखों का प्रेशर चेक कराएं

काला पानी की समस्या अक्सर 40 साल पार वाले लोगों को आती है। काला पानी होने पर पता नहीं चल पाता, इसलिए आंखों का प्रेशर चैक कराना चाहिए। अनदेखी करने पर नस धीरे-धीरे धुंधला दिखाई देने लगता है और फिर बिल्कुल दिखना बंद हो जाता है। यदि आंख में नस सूख जाने पर फिर ऑपरेशन से भी रोशनी लौटना संभव नहीं हो पाता।
डॉ.ऋतु चतुर्वेदी, नेत्र रोग विशेषज्ञ, मेडिकल कॉलेज शिवपुरी