राजश्री के गोदाम पर भीड़ लगाकर गुटखा बेच रहे अनिल डेंगरे सहित 5 पर मामला दर्ज - Shivpuri News

शिवपुरी। ठंडी सड़क पर मामा का टॉवर में राजश्री के गोदाम पर एसडीएम अरविंद वाजपेयी और एसडीओपी सुधीर सिंह कुशवाह ने छापा मारकर वहां बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ को तितर-वितर किया और गोदाम संचालक अनिल डेंगरे सहित उसके चार कर्मचारियों पर भादवि की धारा 188, 269, 270 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। मौके पर मौजूद एसडीएम ने उक्त गोदाम को भी सील कर दिया है।

जानकारी के अनुसार एसडीएम अरविंद वाजपेयी को सूचना प्राप्त हुई थी कि मामा का टॉवर पर राजश्री के गोदाम पर बडी संख्या में लोगों की भीड़ राजश्री खरीदने के लिए जुटी हुई है और वहां न ही लोग मास्क पहने हुए हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। इस सूचना पर एसडीएम अरविंद वाजपेयी, एसडीओपी सुधीर सिंह कुशवाह और यातायात प्रभारी रणवीर यादव अपने दलबल के साथ वहां पहुंचे।

जहां पर करीब 100 से 150 लोग लाईन लगाकर राजश्री गुटखा खरीदने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। मौके पर पहुंची प्रशासनिक टीम ने वहां पहुंचकर लोगों को हटाया और गोदाम में बिना मास्क के कार्य कर रहे कपिल राठौर, हृदेश शर्मा, अवतार धाकड़ और हर्ष राठौर को पकड़ लिया। वहीं गोदाम संचालक अनिल डेंगरे को मौके पर बुलाया। इसके बाद उसका गोदाम सील कर दिया। बाद में कोतवाली में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया।

भीड़ सैकड़ों में, टीआई ने फरियादी बनकर 10 से 15 लोग एकत्रित होना बताया

मौके पर करीब 100 से अधिक लोग लाईन लगाकर बिना सोशल डिस्टेंसिंग के राजश्री खरीद रहे थे। जहां एसडीओपी और एसडीएम ने कार्रवाई की। जिसके वीडियो फुटेज भी बनाए गए और पूरे मामले को कोतवाली भेजा गया।

जहां कोतवाली टीआई ने सैकड़ो की भीड को 10 से 15 लोगों की भीड़ बताकर खुद स्वयं फरियादी बनकर एफआईआर दर्ज कराई। यह क्षेत्र उनके ही कार्यक्षेत्र में आता है और इस क्षेत्र में कोरोना के नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। लेकिन कार्रवाई नहीं की जाती।