थीम रोड पर नालियो का घटिया निर्माण,धूप से ही चटक गए ढक्कन, शुरू होने से पूर्व ही टूटने लगी - Shivpuri News

शिवपुरी। ग्वालियर से गुना नए वायपास को जोडऩे के लिए स्थानीय विधायक यशोधरा राजे सिंधिया के प्रयासों से शहर मेें थीम रोड का निर्माण प्रारंभ किया गया है। जिसमें शहर के मध्य होकर फोरलाईन बनाई जा रही है और सड़क के दोनों ओर नालियों का भी निर्माण कराया जा रहा है।

लेकिन नाली निर्माण करने वाले ठेकेदार ने नालियों की गुणवत्ता पर ध्यान न देकर नाली निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग किया। जिससे नालियां शुरू होने से पहले ही टूटनी शुरू हो गई हैं। उन पर लगाए गए ढक्कन तेज धूप की मार भी नहीं सह पाए और धूप के कारण वह ढक्कन टूटने लगे हैं। इसे लेकर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने भी अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड दिया है और ठेकेदार को क्लीनचिट दे दी है। नाली निर्माण के बाद ठेकेदार ने ठीक ढंग से तराई भी नहीं की।

स्थानीय विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने शिवपुरी के विकास के लिए खाका तैयार किया है और उन्होंने शहर में हो रहे विकास कार्यो के निर्माण करने वाली एजेंसियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि काम की गुणवत्ता उपयुक्त हो और आमजन को भविष्य में गुणवत्ता के कारण परेशानी न उठानी पड़े। लेकिन इसके इतर गुणवत्ता का कतई ख्याल नहीं रखा जा रहा।

होटल तरूण रेसीडेंसी से लेकर गुना वायपास और झांसी तिराहे तक जो नाली बनाई गई है। वहीं शहर के अन्य भागों में भी नाली की गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा गया है। जिसका परिणाम यह हुआ कि नालियां शुरू होने से पहले ही टूटनी शुरू हो गई हैं। कई स्थानों पर तो नालियां अभी अधूरी हैं और नालियों को खोदकर डाल दिया गया है और उससे निकले मलबे को लोगों के घरों और दुकानों के आगे एकत्रित कर दिया है।

जिससे आमजन को वहां आने जाने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। गुना वायपास से तरूण होटल तक आधे हिस्से में नाली बनाई गई है और आधे हिस्से को खोदकर डाल दिया है। जिससे वहां पानी जमा हो रहा है और उसमें मच्छर मक्खी पनप रहे हैं और वहीं सुअर भी धमा चौकडी मचा रहे हैं। खोदी गई नाली से निकले मलबे को भी ठेकेदार ने नहीं उठाया है।

जिससे लोगों के घरों और दुकानों के आगे मिट्टी के ढेर लगे हुए हैं और उन्हें अपने वाहनों को घर से बाहर निकालने और रखने में परेशानी हो रही है। दुकानों में माल लाने में भी व्यापारियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इतना कुछ हो जाने के बाद भी न ही ठेकेदार और पीडब्ल्यूडी के अधिकारी इस समस्या से निजात दिलाने की कोई पहल कर रहे हैं।

इनका कहना है-
ठेकेदार द्वारा काम अच्छा किया जा रहा है। रही बात नालियों के ढक्कनों के टूटने की तो तेज धूप मेें जो टूट ढक्कर टूट गए हैं, उन्हें पुन: बनवा दिया जाएगा और जल्द ही नालियों को तीव्र गति से बनवाने के लिए ठेकेदार से कहा जाएगा।
हरिओम अग्रवाल, एई पीडब्ल्यूडी शिवपुरी