kolaras News- रेत कारोबारियो की नोटों के नीचे दबा प्रशासन: रेत निकालने खोल दिए सिंध के गेट, 30 गांवो के कंठ प्यासे

कोलारस। रेत कारोबारियो के हौसले इतने बुलंद हैं कि उन्होने सिंध के सीने से रेत उठाने के लिए सिंध के गेट तक खोल दिए और पानी बर्बादी कर दिया। इस कारण 30 गांवो का वाटर लेवल गिर गया और वहां जलसंकट खडा हो गया। इस मामले की पूरी जानकारी प्रशासन को हैं लेकिन इस मामले में अभी तक कार्यवाही नही की हैं। इससे स्पष्ट हैं कि लाखो रूपए का चढावा रेत माफियाओ के द्धवारा प्रशासन की टेेबिलो पर चढता हैं।

जानकारी के अनुसासर घुरवार, रिजौदी और पचावली स्थित स्टॉप डैम के गेट निकाल कर पानी बहा दिया है। जिससे नदी सूख गई है। पिछले साल नदी लबालब भरी थी, आज मैदान नजर आ रही है। रेत माफिया ने ग्रामीणों के सामने पानी का संकट खड़ा कर दिया है।

यह गांव आए चपेट में
रिजौदी, बरौदिया, गिदौरा, पीरौंठ, देवरी, मगरौरा, बारौद, धोलपुर, खाईखेड़ा, इंदार, अलावदी, खतौरा, गणेशखेड़ा आदि में जल स्तर गिर गया है। कुएं सूखने के साथ हैंडपंप में कम मात्रा के साथ मटमैला पानी आने लगा है। कई हैंडपंप पानी देना बंद कर चुके हैं।

यह बोले एसडीएम
यह बात सही है कि कुछ लोगों ने गड़बड़ी कर दी थी, इसलिए हमने जल संसाधन विभाग से बात करके कर्मचारियों की ड्यूटी लगवाई थी। जहां जल स्तर गिरा है, वहां पानी का संकट गहराने की स्थिति में तैयारियां की हैं। जरूरत पड़ने पर निजी बोरवेल अधिग्रहित करेंगे। पूरी जानकारी वरिष्ठों को भी दे रहे हैं।
गणेश जयसवाल, एसडीएम कोलारस