राजश्री खिलाकर गाठी दोस्ती और लोन के नाम 7 लोगो को लगा गया 11-11 हजार का चूना

शिवपुरीं बस में यात्रा के दौरान एक युवक ने पहले तो राजश्री खिलाकर दोस्ती गांठी और उसके बाद जब यह राजश्री की दोस्ती चली तो एक दूसरे पर विश्वास हुआ जिसके बाद एक युवक ने ग्रामीणों को लोन दिलाने के नाम पर लाखों रूपए का चुना लगा दिया। अब लुटे पिटे इन ग्रामीणों ने कोतवाली पुलिस से कार्रवाई की गुहार लगाई है।

जानकारी के अनुसार जिले के बैराड़ गोवर्धन इलाके के ग्राम ककरौआ के 7 ग्रामीणों के साथ लोन दिलाने के नाम पर घाटीगाँव करई पाटई निवासी दीपू खेमरिया ने 11-11 हजार की ठगी को अंजाम दे डाला है। मुरारीलाल उपाध्याय पुत्र चक्रपाणि उपाध्याय सहित 7 ठगे गए लोगो के इस मामले की शिकायत कोतवाली पुलिस से की है।

कंपनी का बताया खुद को मैनेजर
बस के सफर में दोस्ती कर कम्पनी का खुद को कंपनी का मैनेजर बताकर 1 लाख 70 हजार का लोन तत्काल दिलाने के नाम पर दीपू ने भोले भाले ग्रामीणों के साथ ठगी कर डाली। पहले 1-1 हजार 15 मार्च को जबकि 16 मार्च को गुरुद्वारा के सामने दुकान के अंदर 11-11 हजार 7 लोगों से ले लिए।

यह हुए 12 हजार की ठगी के शिकार
दीपू ने जिन लोगों को 1 लाख 70 हजार रूपए का लोन दिलाने के नाम पर ठगी की उनमें मुरारीलाल के साथ मातादीन शर्मा पुत्र नकटू राम, मोहन प्रसाद शर्मा पुत्र रामनिवास, विनोद गुप्ता पुत्र बनवारीलाल, काशीराम शाक्य पुत्र चेउराम, भरोसीलाल जाटव पुत्र छतूराम, राकेश जाटव पुत्र भरोसीलाल के साथ इस ठगी को अंजाम दिया।

मोबाइल हुआ बंद तो ग्रामीण पहुंचे घाटीगांव
ठगी के बाद जब दीपू ने मोबाइल बन्द कर लिया तो ठगी के शिकार यह लोग उसके घाटीगाँव घर पहुंचे। तब पड़ोसी बोले वह तो शातिर ठग है। कितने लोग आपकी तरह यहां चक्कर लगाते रहते हैं। आप भी ठग गए। यह सुनते ही ग्रामीणों के होश उड गए और उन्हें समझते देर न लगी कि उनके साथ लोन के नाम पर ठगी की गई है।