अनूठी पहलः छात्रों के लिए खोल दी निःशुल्क शिक्षा हेतु लायब्रेरी - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर के नव युवाओं को जब ऐसा प्रतीत हुआ कि आज के समय में शिक्षा काफी महंगी हो गई है और इस शिक्षा को वह तबका जो इस महंगाई के युग में अपनी शिक्षा को आगे नहीं बढ़ा पाता ऐसे अभ्यार्थियों के लिए युवाओं की एक टीम ने फाउण्डेशन का गठन किया।

इसका नाम दिया डोनेट ए स्माईल फाउण्डेशन यानि मुस्कान के साथ करें दान, इसके तहत शिक्षा से जुड़ी पुस्तकों का दान, धन दान, सेवा दान, मन-मन आदि का दान करने का जो बीड़ा उठाया तो इससे इन्हें प्रेरणा मिली और लगभग 4 वर्ष के संघर्ष का परिणाम यह हुआ कि आज इन युवाओं को शहर के बीचों बीच नगर पालिका के सहयेाग से सब्जी मण्डी के सामने गांधी पार्क रोड़ पर एक भवन मिल गया।

जिसकी साफ-सफाई और मरम्मत का कार्य स्वयं की पॉकेट मनी से इन युवाओं ने किया। इन सभी युवाओं का स्वप्न है कि कोई भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाला छात्रा हो या फिर अर्थ के अभाव में अपनी शिक्षा को बीच में छोडने वाला छात्र-छात्रा हो ऐसे मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए स्वयं की ओर से एक लायब्रेरी का निर्माण कराया गया है।

यह लायब्रेरी उन छात्रों के लिए नए जीवनदान के समान है जो कहीं ना कहीं महंगाई और अर्थ के अभाव में अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते है ऐसे में उन युवाओं को यहां दिशा दिखाने का कार्य किया गया है साथ ही समय-समय पर काउंसलरों के माध्यम से शिक्षा के प्रति मोटिवेशन कार्यक्रमों का आयोजन भी इन युवाओं के द्वारा किया गया है। इन युवाओं ने इसे शिवपुरी सिटी लायब्रेरी रीड एण्ड ग्रो यानि पढ़ो और आगे बढ़ो नाम दिया है।

पंजीयन के साथ यह सुविधाऐं मिलेंगी इस लायब्रेरी में

इस लायब्रेरी का लाभ लेने के लिए शुरूआत में ही केवल 50 रूपये की सहयोग राशि शुल्क के रूप में पंजीयन हेतु निर्धारित की गई है उसके बाद इस लायब्रेरी से जुड़कर (डोनेट ए स्माईल)मुस्कान के साथ करें दान फाउण्डेशन के द्वारा संचालित इस लायब्रेरी में आमजन के लिए जहां प्रतिदिन समाचार पत्रों की व्यवस्था की गई है ।

वहीं प्रति सोमवार से लेकर शनिवार प्रातरू 8 बजे से सायं 5 बजे तक इस शांत हॉल में शिक्षा अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए उनके विषय से संबंधित पुस्तकें उपलब्ध है साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए भी यहां सिलेबस रखा गया है तो वहीं नियमित कार्यशालाऐं करने को लेकर भी यहां विचार किया जा रहा है बाबजूद इसके समय-समय पर कार्यशालाऐ आयेाजित कर बच्चों को मोटिवेट करने का प्रयास भी जारी है।

यहां कोई उम्र सीमा का बंधन नहीं है हरेक वर्ग उम्र के लोग पुरूष, महिला, छात्र-छात्रा, युवक-युवतियां अपने शिक्षा से संबंधित अध्यापन के लिए यहां आकर लायब्रेरी का लाभ ले सकते है। शिक्षा हेतु यदि आवश्यक पुस्तक घर ले जाना है तो उसके लिए भी यहां तीन दिनों की छूट दी गई है जिससे वह छात्र-छात्राऐं अपने घर पर भी शिक्षा अध्यापन का कार्य कर सकें।

एमपीपीएससी के लिए प्रति शनिवार का होता है मॉक टेस्ट

कई ऐसे प्रतिभागी जो एमपीपीएससी(सिविल सेवा परीक्षा) की तैयारी कर रहे है उनके लिए यहां डोनेट ए स्माईल फाउण्डेशन के द्वारा प्रति शनिवार को मॉक टेस्ट की व्यवस्था भी की गई है जिसमें पंजीयन शुल्क 100 रूपये निर्धारित किया गया है जिसमें 10 मॉक टेस्ट कराए जाऐंगें।

पुर्नः उत्तान में सेवाभावी संस्थाओं के सहयोग की है आवश्यकता

यूं तो यह लायब्रेरी युवाओं के द्वारा संचालित की जा रही है लेकिन अपनी पॉकेट मनी से जितना संभव हो सका उतनी सामग्री यहां इन सभी युवाओं ने मिलकर एकत्रित की है जिसमें फर्नीचर, पुस्तकें, टेबिल-कुर्सी, बिजली सहित अन्य व्यव्स्थाऐं जुटाई गई है।

ऐसे में अब यदि इस लायब्रेरी के संचालन में कोई महती भूमिका निभाकर इसके पुर्नद्वार की भूमिका निभा सकता है तो वह है शहर की विभिन्न समाजसेवी संस्थाऐं जो शिक्षा के लिए समय-समय पर अनेकों सेवाभावी कार्य करती है। यदि इन हालातों में इस लायब्रेरी को भी इन संस्थाओं के द्वारा सहयोग किया जाए तो यहां वाटरकूलर लग सकता है, यहां और अधिक फर्नीचर, पंखे, टेबिल, मेज, बोर्ड, वॉशरूम आदि सहित तमाम व्यवस्थाओं में सहयेाग कर सेवाभावी संस्थाऐं अपना योगदान दे सकती है।

ऐसे में यहां आए और स्वयं व्यवस्थाओं को देखकर आवश्यकता की पूर्ति की जाए तो काफी हद तक इन युवाओं का मनोबल बढ़ेगा और वह यहां अन्य व्यवस्थाऐं भी जुटा सकेंगें।