कांग्रेस का छल: छिन गया था शिवपुरी का मिनी स्मार्ट सिटी का दर्जा, अब राजे कर रही हैं प्रयास - Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी शहर के साथ कांग्रेस ने छल किया हैं,शहर वासियो को सपने दिखाकर उसे तोड दिया है। जैसा कि विदित हैं कि 2019 में तात्कालिन कांग्रेस सरकार ने मप्र के नो जिलो को मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में में शामिल किया था।मिनी स्मार्ट सिटी के लिए सरकार ने 25 करोड का बजट भी स्वीकार किया था,लेकिन 2020 में बज बजट खाली होने का हवाला देकर स्मार्ट सिटी का दर्जा छिन लिया। अब शहर के विकास के लिए टूकडो में प्रस्ताव बनाकर भेजने पड रहे हैं। जिससे शहर का विकास हो।

कमलनाथ सरकार में अगस्त 2019 में प्रदेश भर में कुल 9 मिनी स्मार्ट सिटी मंजूर की थीं, जिसमें नगर पालिका शिवपुरी भी शामिल थी। स्मार्ट सिटी का सर्वे कर डीपीआर बनना थी। लेकिन मिनी स्मार्ट के रूप में मिली बड़ी सौगात छिन जाने से लोगों में मायूसी है। शिवपुरी शहर के लोगों को उम्मीद है कि कांग्रेस सरकार द्वारा छीनी गई सौगात वापस मिले।

थीम रोड व पाइप लाइन के लिए प्रस्ताव भोपाल भेजा है

थीम रोड पर सौंदर्यीकरण कार्य के लिए 6 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भोपाल भेजा गया है। इसी तरह पाइप लाइन बदलने के लिए भी 56 करोड़ का प्रस्ताव भेजा है। शहर विकास से जुड़े अन्य प्रस्ताव भी बनाकर भेजे जा रहे हैं। यानी अब टुकड़ों में पैसा आएगा और विकास कार्य धीरे-धीरे होंगे।

अर्बन डेवलपमेंट कंपनी की देखरेख में होने थे काम

प्रदेश में कुल नौ शहरों को मिनी स्मार्ट सिटी के तहत शामिल किया था जिसमें शिवपुरी शहर भी शामिल था। 25 करोड़ रुपए से शिवपुरी शहर में कई विकास व सौंदर्यीकरण के कार्य होने थे। इन कामों की मॉनीटरिंग के लिए अर्बन डेवलपमेंट कंपनी भोपाल को जिम्मेदारी दी गई थी।

मीटिंग के बाद सर्वे होना था, प्रोजेक्ट खत्म किया

स्मार्ट सिटी के लिए कलेक्टोरेट में जिला स्तरीय मीटिंग के बाद सर्वे कार्य कराया जाना था। उसके बाद कंसल्टेंट एजेंसी को डीपीआर बनाकर भेजना थी। इसके लिए सितंबर 2019 में पांच करोड़ रुपए की राशि नगर पालिका को जारी करने संबंधी आदेश भी हो गए थे। लेकिन जनवरी 2020 तक कोई पैसा नहीं आया और बाद में इस प्रोजेक्ट को ही खत्म कर दिया।

मंत्री महोदय प्रयास कर रहीं हैं, विकास कार्यों का प्रपोजल भिजवाया है

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट खत्म होने के बारे में पता चला है। भले ही स्मार्ट सिटी नाम ना हो, फिर भी दूसरे रूप में शिवपुरी शहर से में कई विकास कार्यों का प्रपोजल भिजवाया है। मंत्री महोदय द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। बहुत जल्द पैसा किश्तों में मिलेगा।
अक्षय कुमार सिंह, कलेक्टर शिवपुरी

प्रस्ताव में देरी के कारण प्रोजेक्ट को खत्म करना पड़ा

हमारी सरकार के समय में शिवपुरी और गुना मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल थी। लेकिन नगर पालिका द्वारा डीपीआर समय पर बनवाकर नहीं दी गईं। प्रस्ताव में देरी की वजह से प्रोजेक्ट को खत्म करना पड़ा।
जयवर्धन सिंह, पूर्व मंत्री, नगरीय प्रशासन विभाग

लोगों की सुविधा काे ध्यान में रखते हुए शिवपुरी शहर में हम कई विकास कार्य करा रहे हैं। शहर में विकास कार्य कराने के लिए प्रस्ताव तैयार कराकर भोपाल भिजवाए हैं। थीम रोड शहर के लिए बड़ी सौगात, जो जल्द बनकर तैयार होने जा रही है।
यशोधरा राजे सिंधिया, कैबिनेट मंत्री मप्र शासन एवं विधायक शिवपुरी