टाट के पैबंद वाली लाइन से कैसे बुझेगी शहर की प्यास, हर दिन फूट जाती है लाईन - Shivpuri News

शिवपुरी। 114 करोड से अधिक की राशि खर्च करने के बाद भी शहर के लोगों के कंठ की प्यास बुझ नहीं पाई है। कई इलाकों में आज भी जल संकट गहराया हुआ है। ऐसे में टाट के पेबंद वाली लाइन आए दिन फूट रही है जिससे हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। लोगों का कहना है कि इस टूटी लाइन से गर्मियों में सप्लाई की गई तो यह कई बार फिर फूट जाएगी और लोगों को परेशानी का सामना करना पडेगा।

मडीखेडा की लाइन से नियमित पानी की सप्लाई करने पर प्रेशर से यह पाइप लाइन फूट जाती है और लाइन को दुरूस्त करने में ही दो से तीन दिन का समय बीत जाता है ऐसे में गर्मियों में लोगों को पानी कैसे यह टाट के पेबंद वाली लाइन दे पाएगी लोगों को संदेह है।

बदली जाए पाइप लाइन
लोगों का कहना है कि यह टाट के पेबंद वाली लाइन को बदला जाए जिससे शहर में नियमित पानी की सप्लाई हो सके और लोगों को पानी मिल सके। इतना ही नहीं डेक्सार की पाइप लाइन डाली जाए जिससे लोगों को नियमित पानी मिल सके।

नहीं जुडाव हुआ कई टंकियों का
शहर में पानी की कई टंकियों का जुडाव अब तक मडीखेडा की लाइन से नहीं हुआ है। ऐसे में गर्मी के दिनों में कई इलाकों में नपा को टैंकरों से पानी भेजना पडेगा और लाखों रूपए पानी के परिवहन पर ही खर्च हो जाएगा। ऐसे में टंकियों का जुडाव कर दिया जाए जिससे परिवहन के लाखों रूपए बचाए जा सके।