आस योजना का हुआ शुभारंभ: 300 से अधिक परिवारों को टूटने से बचाया है पुलिस परिवार केन्द्र ने - Shivpuri News

शिवपुरी । मुझे वेहद प्रसन्नता हैं कि ग्वालियर जॉन के शिवपुरी जिले का पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र जिस श्रेष्ठ तरीके से कार्य कर रहा हैं वह न केवल सराहनीय हैं बल्कि अनुकरणीय हैं उक्त बात ग्वालियर जॉन के आईजी अविनाश शर्मा ने परिवार परामर्श केन्द्र के चतुर्थ स्थापना समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि की आसंदी से कही।

उन्होंने कहा कि मैंन यहां के काम को देखकर न केवल प्रभावित हूं बल्कि नतीजों के आकड़े भी निश्चित तौर पर बहुत अच्छे हैं। जिसका श्रेय टीम 31 के सदस्यों की कर्मठता और शत प्रतिशत ईमानदारी को जाता हैं। उनका सुझाव था कि राजनीनामा के उपरांत मॉनीटरिंग करने से परामर्श के परिणाम न केवल वेहतर होंगे बल्कि दम्पत्ति की वास्तवित स्थिति समझने मैं मदद मिलेगी जिसके अनुभव से अन्य केसों में परामर्श करने में सहयोग मिलेगा।

इसके पूर्व मुख्य अतिथि आईजी अविनाश शर्मा, कार्यक्रम के अध्यक्ष पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, विशिष्ठ अतिथि एडिशन एसपी दतिया कमल मौर्य, एडीएम श्री बालौदिया, एडिशन एसपी प्रवीण भूरिया और वरिष्ठ समाजसेवी इन्द्रप्रकाश गांधी को मंचासीन कराया गया।

अतिथियों के द्वारा माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन के बाद जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया तथा टीम 31 के द्वारा अतिथियों का पुष्प गुच्छ से स्वागत किया गया।

अपने स्वागत भाषण में परिवार परामर्श के जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया ने बताया कि टीम 31 के सदस्यों के समेकित प्रयास और पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में अब तक 3 सैकड़ा से अधिक परिवारों बसाने में हम सफल रहे हैं और शिवपुरी का यह केन्द्र मध्य प्रदेश के श्रेष्ठतम केन्द्रों में सुमार हैं।

विषय प्रवर्तन करते हुए सायकलोजिस्ट श्रद्धा खरे ने जो कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय में सायकलोजी विषय पर नेट के माध्यम से पीएचडी कर रही हैं आंकड़ों के माध्यम से तलाक के बाद महिलाओं के हालातों को बारीकी से समझाया और बताया कि किन-किन माध्यमों से उनके मानसिक, शारीरिक और आर्थिक हालत सुधरेंगे। इस अवसर पर एडिशन एसपी कमल मौर्य और एडिएम श्री बलौदिया ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए। लॉयन्स क्लब के अस्टिेंड गर्वनर डॉ. शैलेन्द्र गुप्ता ने इस अवसर पर टीम 31 के कार्र्यों का आंकलन सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से प्रस्तुत किया।

इसे बहुत बेहतर बताया। कार्र्यक्रम के अध्यक्ष जिला पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने अपने उदबोधन में कहा कि मेरी तैनाती मध्य प्रदेश के कई जिलों में रही हैं मगर मैने इतना बेहतर और परिणाम देने वाला केन्द्र कहीं नहीं देखा। इसका पूरा श्रेय टीम 31 के सदस्यों और इसके संयोजक को जाता हैं उन्होंने पूरी टीम की मेहनत और ईमानदारी की प्रशंसा की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने आस योजना का शुभारंभ भी किया। कार्यक्रम का कुशल संचालन समीर गांधी और आभार प्रदर्शन इंजीनियर महिपाल अरोरा ने किया।

इस अवसर पर लॉयन्स क्लब, रोटरी क्लब, भारत विकास परिषद, के सदस्यों के साथ समाजसेवी, चिकित्सक, गणमान्य नागरिक, बुद्धिजीवी, समस्त एसडीओपी, थाना प्रभारी तथा महिला थाने के स्टाफ उपस्थित थे।
वॉक्स:-

यह हैं आस योजना
जिला परिवार परामर्श केन्द्र के माध्यम से आस, बदलती दिशायें नई आशायें कार्यक्रम पर काम शुरू कर दिया गया हैं। परामर्श के दौरान यह पाया गया कि कई परिवार आर्थिक संकट के कारण तलाक की स्थिति में पहुंच जाते हैं अत: इसके निवारण के लिए इस कार्र्यक्रम को चलाने का तय किया गया। इस योजना का नोडल सायकलोजिस्ट श्रद्धा खरे को बनाया गया हैं। जो नि:शुल्क अपना परामर्श और सेवायें देंगी।

इसके तहत जहां उनका स्वास्थ्य परीक्षण करके बीमारियों का इलाज होगा वहीं मोटीवेशन के द्वारा उन्हें मानसिक रूप से स्वस्थ्य बनाया जाएगा। इसके बाद गृह उद्योग और टेलरिंग के माध्यम से आय के साधन विकसित किए जायेंगे ताकि यह तलाक शुदा महिलायें न केवल अपने पैरों पर खड़ी हो सकें बल्कि स्वावलम्बन से भी जुड़ सकें। इस कार्य को तथागत फाउडेंशन और गायत्री परिवार के सहयोग से किया जावेगा। इसमें स्वावलम्बन बाली योजना में मदद करके महिलाओं को स्वावलम्बि बनाया जाएगा वहीं टेलरिंग भी सिखाई जायेगी और नि:शुल्क सिलाई मशीन भी प्रदान की जाएगी।

इनका हुआ सम्मान
परिवार परामर्श केन्द्र के स्थापना दिवस के अवसर पर अपने प्रमुख सदस्य रहे स्व. सुरेश चन्द्र जैन नरवर वालों की स्मृति में सम्मान प्रदान किया गया। जिसमें चिकित्सा के क्षेत्र में विशिष्ठ योगदान और गरीब बच्चों के जटिल आंखों के ऑपरेशन करने के लिए प्रख्यात नेत्र चिकित्सक डॉ. गिरीश चतुर्वेदी का सम्मान किया गया

वही परामर्श केन्द्र में सर्वाधिक उपस्थिति के लिए श्रीमती पुष्पा खरे, महिला सैल में परामर्श केन्द्र के लिए किए गए उल्लेखनीय कार्य के लिए आरक्षक विपिन शर्मा, महिला सैल प्रभारी रहते हुए दिए गए उत्कृष्ट योगदान हेतु सब इंस्पेक्टर दीप्ति तोमर, सेवाओं के लिए वरिष्ठतम सदस्य मथुरा प्रसाद गुप्ता एवं आशा प्रकल्प में स्वावलम्बन हेतु नि:शुल्क सेवायें देने के लिए सायकलोजिस्ट श्रद्धा खरे का आईजी अविनाश शर्मा एवं एसपी राजेश सिंह चंदेल द्वारा स्मृति चिन्हि देकर सम्मानित किया गया।

आईजी शर्मा ने की पांच सिलाई मशीन देने की घोषणा
परिवार परामर्श केन्द्र के सदस्यों द्वारा धनअभाव से जुझ रही उन महिलाओं को मदद करने का प्रयास किया गया जिसके तहत इन महिलाओं को सिलाई मशीन भेंट में दी गई ताकि वे सिलाई के माध्यम से कुछ धन कमा सकें। आईजी श्री शर्मा के द्वारा श्रीमती सरिता श्रीवास्तव, श्रीमती रानी परिहार, श्रीमती सीमा जाटव एवं श्रीमती सरोज परिहार को उक्त मशीनें प्रदान की गई।

इस अवसर पर स्व. सुरेश चन्द्र जैन के पुत्र पवन जैन के द्वारा परिवार परामर्श केन्द्र को पांच मशीनें देने की घोषणा की गई। वहीं पंडित विकास दीप शर्मा के द्वारा एक मशीन, सीएमओ सौरभ गौड़ के द्वारा अपने पिता की स्मृति में दो मशीन प्रधान आरक्षक रामसेवक उपाध्याय के द्वारा एक मशीन, एवं श्रीमती संतोष सिंह चौहान के द्वारा एक मशीन देने की घोषणा की गई।

इसी बीच आईजी श्री अविनाश शर्मा मंच पर आए और उन्होंने परिवार परामर्श केन्द्र को अपनी तथा अपनी धर्मपत्नि श्रीमती रेखा शर्मा की ओर से जरूरतमंद महिलाओं को पांच सिलाई मशीन देने की घोषणा की। जिसका करतल ध्वनि से स्वागत किया गया।