आग से झुलसी महिला का इलाज नहीं किया, घर भेज दिया, मौत - kolaras News

शिवपुरी। खबर कोलारस अनुविभाग के रन्नोद थाना क्षेत्र से आ रही हैं कि रन्नौद में रहने वाली एक महिला आग लगने के कारण झुलस गई। शिवपुरी जिला चिकित्सालय से ग्वालियर रैफर किया गया वहां डाॅक्टर ने कहा कि 2 घंटे में मर जाऐगी मैं गारंटी देता हूं और ईलाज ना करते हुए वापस कर दिया।

परिजन महिला को वापस गांव ले जाए,पुलिस को जानकारी मिली तो वह उसकी घर पहुंची और बयान लिए और उसे ईलाज के लिए पुनःशिवुपरी अस्पताल पहुंचाया। शिवपुरी से पुनःदुसरी बार ग्वालियर रैफर किया गया,लेकिन महिला की मौत ग्वालियर अस्पताल पहुंचने से पहले हो गई। 2 घंटे की जिदंगी की गांरटी देने वाली महिला की 17 घंटे तक मौत से संघर्ष करती रही। अगर ग्वालियर में इस महिला को उचित समय पर उचित ईलाज मिल जाता तो आज हो सकता हैं कि यह खबर आपको नही पढने को मिलती। 

जानकारी के अनुसार तूफानी बाई उम्र 28 साल पत्नी हल्के कुशवाह निवासी रन्नौद 18 जनवरी की शाम हीटर से हाथ ताप रही थी, तभी साड़ी में आग लगने से झुलस गई। बाहर बैठा पति बचाने आया तो उसके भी हाथ झुलस गए। रन्नौद अस्पताल से शिवपुरी रैफर कर दिया। 

जिला अस्पताल शिवपुरी से डॉक्टर ने ग्वालियर रैफर कर दिया। ग्वालियर में 19 जनवरी की शाम 5 बजे पहुंचे तो यहां मौजूद डॉक्टर कहने लगा कि इसे यहां क्यों ले आए हो, इसका तो अंतिम समय चल रहा है। मैं गारंटी दे रहा हूं कि दो घंटे में मर जाएगी, फालतू में फंस जाओगे। 

डॉक्टर ने कर्मचारी की तरफ इशारा करते हुए परिजन से कहा कि इसे 400 रु दे दो पट्‌टी कर देगा। 400 रुपए देने पर पट्‌टी की। यहां से घर वापस जाने साधन नहीं मिला तो 4 हजार रु देकर किराए से वाहन लिया और वापस रन्नौद पहुंच गए।

पुलिस ने बयान दर्ज किया, इलाज कराने वापस शिवपुरी भिजवाया 

महिला के झुलसने की सूचना पर रन्नौद थाना प्रभारी अनिल रघुवंशी पहुंचे और महिला के बयान दर्ज कराए। परिजन ने आपबीती पुलिस को बताई। पुलिस ने रन्नौद अस्पताल से जिला अस्पताल शिवपुरी रैफर कराया। 

19 जनवरी की शाम 6.30 बजे जिला अस्पताल पहुंचे। करीब दो घंटे इलाज के बाद 8.30 बजे ग्वालियर रैफर कर दिया। एंबुलेंस से ले जाते वक्त सतनवाड़ा के पास महिला की मौत हो गई।

एंबुलेंस ड्राइवर ने शव ले जाने से मना कियाए पुलिस ने भिजवाया

सतनवाड़ा के पास महिला की मौत के बाद एंबुलेंस चालक ने शव वापस ले जाने से मना कर दिया। परिजन जिद पर अड़ गए तो एंबुलेंस लेकर सतनवाड़ा थाने ले गए। यहां पुलिस ने भी समझाया और शव को जिला अस्पताल शिवपुरी भिजवा दिया। महिला का पोस्टमार्टम होने के बाद शव परिजन को सौंप दिया। जहां उसका दहासंस्कार कर दिया गया।