राम मंदिर निर्माण को लेकर राम भक्तों ने 492 वर्षों तक किया अनवरत संघर्ष: विश्ववर्धन भट्ट - Bairad News

 
बैराड़। नगर में समाजसेवी व हिन्दू समाज के लिए सदैव सक्रिय रहने बाले संगठन विश्व हिंदू परिषद बजरंगदल प्रखंड बैराड़ की रविवार को एक बैठक आयोजित की गई। जिसमें मुख्य रूप से प्रांत सह संयोजक विश्ववर्धन भट्ट उपस्थित रहे। बैठक का प्रांरभ विजय महामंत्र के साथ किया गया। 

इस बैठक का मुख्य उद्देश्य श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र निधि समर्पण महाअभियान को लेकर बैठक आयोजित की गई है जिसमें मुख्य रूप से उपस्थित प्रांत सह संयोजक विश्ववर्धन भट्ट ने अपने उद्बोधन मैं कहा कि श्री राम जी धर्म के मूर्तिमंत स्वरूप है वे भारत की आत्मा है श्री राम जन्मभूमि पर भव्य श्री राम मंदिर भारतीय मन की सास्वत प्रेरणा है इस राम मंदिर के लिए श्री राम भक्तों ने 492 वर्षों तक अनवरत संघर्ष किया।

अतीत के 76 संघर्षों में 4 लाख से अधिक राम भक्तों ने बलिदान दिया लगभग 36 वर्षों के सुसूत्र श्रृंखलाबद्व अभियानों के फल स्वरुप संपूर्ण समाज में लिंग, जाति, वर्ग, भाषा संप्रदाय, क्षेत्र आदि भेदों से ऊपर उठकर एकात्म भाव से श्री राम मंदिर के लिए अप्रतिम त्याग और बलिदान किया जिसके परिणाम स्वरूप 9 नवंबर 1989 को श्री राम जन्म भूमि पर शिलान्यास पूज्य संतों की उपस्थिति में अनुसूचित समाज के बंधु श्री कामेश्वर चौपाल ने किया। 

इतना ही नहीं श्री भट्ट ने कहा कि भारत सरकार ने 5 फरवरी 2020 को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र नाम से न्यास का गठन कर अधिकृत 70 एकड़ भूमि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को सौंप दी तदुपरांत 25 मार्च 2020 को श्री राम लला तिरपाल के मंदिर से अपने आस्थायी नवीन काष्ठ में विराजमान हुए श्री भट्ट ने राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रत्येक परिवार के प्रत्येक व्यक्ति से निधि समर्पण सहयोग देने को लेकर कहा कि भारतीय सनातन समाज की विशेषता रही हैं।

विद्यार्थी, वानप्रस्थी, सन्यासी, भिक्षु इत्यादि को जीवन यापन हेतु संसाधन उपलब्ध कराना मंदिर एनं तीर्थों में धर्मशाला तथा अन्य समाज उपयोगी स्थानों का निर्माण कराना, सहयोग करना समाज के श्रीमंतों का सास्वत स्वभाव रहा है श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र भगवान श्री राम के मंदिर निर्माण हेतु समस्त समाज के साथ योगदान का आग्रह एवं सहयोग का आव्हान करते हुए कहा कि महासागर पर सेतुबंध के समय गिलहरी की भांति इस पुनीत यज्ञ में यथाशक्ति योगदान कर पुण्य के भागी बने।

इतना ही नहीं श्री भट्ट ने गुरु गोविंद सिंह जी व उनके दोनों सुपुत्रों के बलिदान को लेकर भी कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया इसकेस साथ ही जिला सह संयोजक उपेन्द्र यादव ने कहा कि पूज्य संतों ने यह आवान किया है कि श्री राम जन्मभूमि में भव्य मंदिर बनने के साथ-साथ जन-जन के हृदय मंदिर में श्री राम एवं उनके जीवन मूल्यों की प्रतिष्ठा हो।

श्रीराम 14 वर्षों तक नंगे पैर वन भूमि समाज के हर वर्ग तक पहुंचे उन्होंने उचित समझे जाने वाले लोगों को आत्मीयता से गले लगाया अपनत्व की अनुभूति कराई, सभी से मित्रता की, जटायु को भी पिता का सम्मान दिया, नारी की गरिमा को पुनर्स्थापित किया, असुरों का विनाश कर आतंकवाद का समूल नाश किया, हम सबको अपने अपने दृढ़ संकल्प एवं सामूहिक पुरुषार्थ से ऐसा ही भारत बनाना हैं।

इस अवसर पर जिला सह संयोजक बजरंग दल उपेन्द्र यादव, जिला संगठन मंत्री भरत रावत,जिला सेवा प्रमुख महावीर कर्ण, विश्व हिंदू परिषद प्रखंड अध्यक्ष दिलीप मरैया, मंत्री अंकित गुप्ता, संयोजक प्रिन्स प्रजापति, सह संयोजक ललि मुदगल, नगर सह संयोजक रंजीत (अंकित) रावत, विकास सूर्यवंशी, सह संयोजक धर्मेन्द्र तोमर,अजमेर चिड़ार नगर गौ रक्षा प्रमुख, विकास सोनी विधार्थी प्रमुख, विकास कुशवाह,रिंकू जाटव, विजय खांडेकर,अंकित शर्मा हैप्पी, आकाश, नीलेश, मिथुन, अनविल, आशिक, वीरू, राजू परिहार आदि सहित विभिन्न कार्यकर्ता उपस्थित रहे।