शहर से अब टू लेन नही फोरलेन गुजरेगी,शहर के नाले के पुल भी होगें चौडे:राजे ने स्वीकृत कराया अतिरिक्त बजट - Shivpuri News

शिवपुरी । शहर विकास के लिए कृत संकल्पित कैबिनेट मंत्री एवं शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने शहर की थीम रोड़ अब 18 वाटालियन से लेकर ककरवाया तक पूरी सड़क फोर लाईन सड़क के लिए बजट स्वीकृत करा दिया हैं। 

पहले यह सड़क 13.50 कि.मी. लम्बाई में से 8 कि.मी. लम्बाई टू-लेन में स्वीकृत थी तथा केवल शहर भाग के हिस्से में ही 5 कि.मी. लम्बाई फोर लेन में स्वीकृत थी और इस कार्य की लागत उस समय 44 करोड़ 96 लाख रूपए थी, लेकिन अब यह पूरी थीम सड़क को कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया अपने अथक प्रयासों से 64 करोड़ 69 लाख रूपए की राशि स्वीकृत कराकर इसे फोरलाईन सड़क स्वीकृत कराकर शहर विकास की नई इबारत लिख दी हैं।

शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने शिवपुरी रेलवे स्टेश को भव्यता प्रदान करने के लिए 1 करोड़ 89 लाख रूपए की राशि स्वीकृत कराकर कार्य प्रारंभ कराया गया। वहीं दूसरी तरफ शिवपुरी विधानसभा क्षेत्र खोड़ में अपने हाथों से उप तहसील के नवीन भवन का फीता काटकर शुभारंभ किया। 

इसी कड़ी में आगे शिवपुरी शहर के सौन्दर्यकरण के लिए नई गति प्रदान की हैं। थीम रोड़ जो कि शहर के बीचों बीच तो सिर्फ 5 कि.मी. की लम्बाई में फोरलाईन बनना थी उसे अब 13.50 कि.मी. की लम्बाई में पूरे फोरलाईन की राशि स्वीकृत करा दी हैं। इसके बाद थीम रोड़ बनाए जाने की शुरूआत हो चुकी हैं। 

इतना ही नहीं शहर के बीचों बीच हृदय स्थल माधव चौक के पास बने बड़े पुल को तोड़कर उसका पुन: निर्माण कराया जाएगा। चूंकि यह रोड़ शहर के बीचोंबीच हैं तथा दूसरे जिले व व राज्यों से आने जाने वाले लोग भी इसी रास्ते से होकर गुजरते हैं, इसलिए थीम रोड़ बनने के बाद शहर का यह मुख्य मार्ग अलग से ही नजर आएगा। 18 वटालियन से लेकर ककरवाया तक दोनों ओर साइडों में नालियां बनाई जा रही हैं साथ ही रोड के बीचों-बीच डिवाइडर बनाए जाकर उन पर ही बिजली के पोल लगाए जायेंगे। 

जिस पर दोनो ओर आकर्षक लाइटिंग लगाई जाएंगी सड़क की दोनों साईडों पर फुटपाथ भी बनाया जाएगा। ताकि पैदल चलने वाले नागरिकों को परेशानी न हो। थीम रोड़ बनने से शहर आकर्षक रूप में नजर आने लगेगा। अभी हाल ही में बीते रोज कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया इस थीम रोड़ का निरीक्षण करते हुए ठेकेदार को साफ शब्दों में कहा कि गुणवत्ता युक्त कार्य होना चाहिए साथ ही समय सीमा में कार्य पूर्ण हो इस बात विशेष ध्यान रखा जाए।