यह खबर सभी को पढनी चाहिए: ठगों ने कैसे गायब कर दिए पूजा-पाठ कराने के बाद 250000 के सोने के गहने - kolaras News

शिवपुरी। खबर जिले के सिरसौद थाना क्षेत्र के कुशियारा गांव से आ रही हैं,जहां संतान प्राप्ति के नाम पर अनुष्ठान कराने के मामले में ढाई लाख रूपए की ठगी का मामला प्रकाश में आ रहा हैं। बताया गया हैं कि नि:संतान दंपती को संतान सुख दिलाने के नाम पर ठगो ने पूजा पाठ कराया गया और उक्त परिवार को 2.5 लाख का चूना लगा दिया गया। अनुमान लगाया जा रहा हैं कि परिवार को सम्मोहित किया गया ठग जैसे कहते गए परिवारजन वैसे ही करते रहे। 

इस मामले पूरे घटना क्रम की सूचना सिरसौद थाना पुलिस को दी गई हैं,पुलिस ने मामला जांच में ले लिया हैं कि बदमाशो को अभी तक कोई सुराग नही हैं। 

जानकारी के मुताबिक कुशियारा गांव के रहने वाले गणेश रावत पुत्र अतर सिंह रावत की शादी के बाद से कोई संतान नहीं है । गुरुवार को सुबह 11 बजे ऑल्टो कार से तीन बदमाश गांव में पहुंचे । इनमें से दो बदमाश कार से उतरकर गणेश रावत के पास पहुंचे और एक बदमाश कार में ही बैठा रहा। कार से उतरे बदमाशो ने कहा कि आपके रिश्तेदारों ने बताया है कि आपके यहां संतान नहीं हुई है। इसलिए अनुष्ठान करा लो अनुष्ठान के बाद आपको संतान सुख मिल जाएगा। 

रिश्तेदारों की बात करने पर गणेश रावत, उसकी पत्नी ममता रावत और पिता अतर सिंह रावत अनुष्ठान कराने के लिए तैयार हो गए। कार से उतरे दोनो ठगो ने घर की बहू ममता रावत पति गणेश रावत और पिता अतर सिंह को पूजा पाठ के नियम समझाए वह भी अलग-अलग बातचीत करके। 

बताया जा रहा हैं कि ठगो ने इस पूरे मामले में कमजोर कडी ममता रावत को अपने जाल के लिए चुना। संतान न होने के कारण संतान सुख चाहने के कारण के वह ठगो के जाल में असानी से फस गई। उससे कहा गया कि घर में जितने भी गहने है उन्है एक पोटली में लेकर आना इस पोटली में क्या हैं इसकी जानकारी किसी को नही होनी चाहिए नही तो अनुष्ठान सफल नही हो सकता हैं। ठगो की बातो में यकीन करके गीता संतान सुख की चाह में घर में रखे पूरे सोने के गहनो को एक पोटली में ले आई। 

दोनो ठगो ने पूरे विधि विधान से अनुष्ठान करवाया। सोने के गहनो की पोटली चूकि पूजा में रखी थी उस पर बार-बार जल चढाया जा रहा था इसलिए गीता में इस बात से बेफ्रिक हो गई। ठगो ने अनुष्ठान के बाद जाल फैका। अनुष्ठान संपन्न होने के बाद पति गणेश रावत पत्नि ममता रावत को एक अनुष्ठान के फल स्वरूप एक नारियल दिया और कहा कि इसे अपने घर से दूर गाडकर आओ दोनो साथ जाना किसी से बात नही करना।

हम जब तक आपके पिता अत्तर सिंह के साथ बैठे हैं ममता भी गहनो के पास पिता को बैठा देखकर निश्चित होकर अपने पति के साथ चली गई। दोनो के जाने के बाद ठगो ने अपना गेम प्लान आगे बढाया। पूजा पर साथ बैठे पिता अत्तर सिंह से कहा कि आप पीठ फेरकर भगवान का ध्यान करे। आप पीछे मुडकर नही देखे और हम यह बैठकर मंत्रो का मौन जाप करेंगें,जब तक आपके बहू और बेटे नही आ जाते। 

जब अतर सिंह पीठ फैरकर भजन करने लगे तो बदमाश घर में रखी गहनों की पोटली उठाकर कार में बैठकर भाग गए। जब बहू और बेटा वापस आए तो वहां केवल पिता भजन करते मिले। पत्नि ने देखा कि पोटली गायब है तो उसके होश उड गए और वह समझ गई कि हमारे साथ धोखा हुआ हैं। पूरे मामले की जानकारी सिरसौद थाना पुलिस को दी गईं,पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर बदमाशो की तलाश शुरू कर दी हैं। 

शिवपुरी समाचार की अपील
शिवपुरी समाचार सभी पाठको से अपील करता हैं कि इस खबर को आपको अपने परिवार के पूरे सदस्यो को पढानी चाहिए। इस खबर की चर्चा समाज में करनी चाहिए। और बताना चाहिए कि कैसे एक परिवार के साथ पूजा-पाठ के नाम पर धोखा हुआ हैं। हमे किसी भी अपरचित के बातो में आकर पूजा नही करानी चाहिए। 

पूजा पाठ उसी व्यक्ति से करानी चाहिए जिसे हम व्यक्तिगत रूप से जानते हो। किसी भी अपरचित को अपने घर में प्रवेश नही देना चाहिए। ठग आपको किसी भी भेष में आकर चूना लगा सकते हैं। पहले सोना साफ कराने के नाम पर गायब होता था अब पूजा पाठ के नाम पर गायब हुआ हैं।