धनतेरस पर बाजारों में उमडी भीड,जमकर बरसी लक्ष्मी, बाजार पर कोरोना का कोई असर नहीं - Shivpuri News

शिवपुरी। धनतेरस से दीपावली के त्यौहार का शुभारंभ हो गया। इस दिन कुछ नया खरीदने की परंपरा है। इसी कारण बाजार में खरीददारों की भीड़ उमड़ी है। कोरोना का कोई असर नजर नहीं आ रहा। बहुत से लोग बिना मास्क लगाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना खरीददारी में जुटे हुए हैं।

खासकर ज्वैलरी, बर्तन, इलेक्ट्रोनिक सामान, ऑटोमोबाइल सेक्टर में भीड़ का जमावड़ा है। मान्यता है कि इस दिन जो कुछ भी खरीदा जाता है उसमें लाभ होता है। धन संपदा में वृद्धि होती है। इसलिए इस दिन लक्ष्मी की पूजा की जाती है। धनवंत्री भी इसी दिन अवतरित हुए थे। इसी कारण इसे धनतेरस कहा जाता है। यह तिथि धन त्रयोदशी के नाम से भी जानी जाती है। धनतेरस पर यम की पूजा की भी महिमा है।

पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष सोने और चांदी की कीमतों में काफी वृद्धि हुई है। लेकिन इसके बाद भी सर्राफा बाजार में खरीददारों की कमी नहीं है। खासकर चांदी के सिक्के लेने लोग निकल रहे हैं। 10 और 5 ग्राम के सिक्कों की ज्यादा मांग है। 10 ग्राम का सिक्का 650 रूपए में उपलब्ध है। पंचम जॉर्ज के रेट बढ़े हुए हैं। पिछले वर्ष धनतेरस पर जहां चांदी का भाव 38 हजार रूपए किलो था, वहीं इस वर्ष चांदी 62 हजार रूपए प्रति किलो पर पहुंच गई है।

सोने के दाम भी आसमान पर है और 10 ग्राम सोने की कीमत लगभग 51 हजार रूपए है। जबकि विगत वर्ष 10 ग्राम सोने की कीमत 36 हजार रूपए थी। इसके बाद भी धनतेरस पर सोने के छोटे-छोटे आयटमों की खरीददारी की जा रही है। बर्तनों की दुकानों पर भी भीड़ का तांता लगा हुआ है।

खासकर निम्र और मध्यम वर्ग के लोग बर्तन खरीद कर अपना त्यौहार बना रहे हैं। वाहनों की खरीद भी धनतेरस पर अच्छी हो रही है और इस सेक्टर में खरीददारी पर कोरोना का कोई प्रभाव नजर नहीं आ रहा है। इस दिन शहर में 15 करोड़ के लगभग कारोबार होने की संभावना है। व्यापारी उत्साहित नजर आ रहे हैं और धनतेरस पर उमड़ी भीड़ से उन्हें आशा बंधी है।

सोने की कीमत बढऩे से व्यापार पर पड़ा असर

नबाव सर्राफ के संचालक तेजमल सांखला का कहना है कि इस बार पिछले वर्ष की तुलना में सोने चांदी का कारोबार 30 प्रतिशत से अधिक गिरने के आसार प्रतीत हो रहे हैं। जिसका मुख्य कारण सोने चांदी की कीमत में आई उछाल है। जिस कारण लोग सोना चांदी खरीदने के आभूषण खरीदने के स्थान पर छोटे छोटे आइटम खरीद रहे हैं।

अभी तक तो उन्हें उम्मीद है कि उनका व्यापार अच्छा चलेगा, लेकिन शाम तक यह स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। चूंकि उनका मुख्य काम व्यापार है और व्यापार में हमेशा आशा ही प्रमुख होती है। धनतेरस के चलते सभी तरह के आभूषणों की रेंज उनके पास है और अब उन्हें सिर्फ ग्राहकों के आने का इंतजार है।

ऑटोमोबाइल सेक्टर में होगी धनवर्षा

धनतेरस पर सर्वाधिक व्यापार का अनुमान ऑटोमोबाइल क्षेत्र में लगाया गया है। इस क्षेत्र में टे्रक्टर, कार और बाइकों की बिक्री का अनुमान 6 करोड़ से अधिक का लगाया गया है जो सभी सेक्टरों की बिक्री का 45 प्रतिशत के लगभग व्यवसाय है। शहर में टीव्हीएस बंडर बाइक शोरूम, हीरो शोरूम पर सर्वाधिक भीड़ देखी जा रही है। टीव्हीएस बंडर बाइक शोरूम पर 1 हजार गाडियाों का स्टॉक रखा हुआ है। जबकि हीरो शोरूम पर भी बाइकों का स्टॉक रखा गया है।

बर्तनों की भी हो रही है जमकर बिक्री

धनतेरस पर बर्तनों का कारोबार भी जमकर चलता है। जिसके लिए शहर में कई बर्तनों की दुकानें लगाई गईं हैं जिनमें प्रमुख रूप से धर्मेंद्र बर्तन और पण्डित बर्तन वाले की दुकानों पर एक से बढ़कर एक स्टील और अन्य धातुओं के बर्तनों की रेंज रखी गई है। धर्मेंद्र बर्तन के संचालक धर्मेंद्र का कहना है कि इस बार उनका व्यापार कुछ ठीक ठाक रहेगा। जिसका कारण सोने की बड़ी हुईं कीमतें हैं। धनतेरस पर अधिकतर लोग सोने चांदी के आभूषण खरीदते हैं, लेकिन कीमत बढऩे के कारण आभूषणों की बिक्री कम हो रही है।

ऐसी स्थिति में लोग घरों के दैनिक उपयोग के लिए बर्तनों की खरीददारी के लिए आ रहे हैं। पण्डित बर्तन के संचालक मुकेश वशिष्ठ का कहना है कि उनकी दुकान पर सभी रेंज के बर्तन उपलब्ध हैं ओर नई नई वैराटियां भी उनके पास हैं। जो खरीददारो को आकर्षित कर रही हैं। आज धनतेरस पर होने वाला उनके बर्तनों का व्यापार काफी अच्छा चलने की उम्मीद है। 

इलैक्ट्रॉनिक आयटमों की भी हो रही है खरीददारी

शहर में इलैक्ट्रॉनिक शोरूमों पर एक से बढ़कर एक ऑफर उपभोक्ताओं को दिए जा रहे हैं और इलैक्ट्रॉनिक आयटमों पर खरीददारी में ऑफर आने से उपभोक्ता का रूझान खरीददारी में बढ़ा है। दीपावली आने से पूर्व ही इस व्यवसाय से जुड़े व्यापारियों के शोरूमों पर लोगों की भीड़ आनी शुरू हो गई है और आज धनतेरस पर इलैक्ट्रॉनिक आयटम खरीदने के लिए लोग पहुंच रहे हैं। जहां आज कई शोरूमों पर बम्पर ड्रॉ भी निकाले जा रहे हैं।

ठेलों पर खील-बताशों के साथ पोस्टरों के साथ अन्य सामान की बिक्री जारी

दीपावली पर छोटे छोटे व्यापारी भी अपने व्यापार में लगे हुए हैं। कोर्ट रोड़ पर पिछले चार दिनों से इन व्यापारियों ने ठेलों पर अपनी दुकानें सजा ली हैं। यातायात पुलिस ने लोगों को असुविधा न हो इसलिए ठेलों को सड़क के बीचोंबीच डिवाइडर की तरह लगवाया है जिससे उनके व्यापार पर भी असर न पड़े और लोगों को परेशानी भी न हो। यातायात पुलिस के इस प्रयास से वह व्यापारी काफी प्रसन्न हैं। वह अपनेे ठेलों पर दीए, रूई, खीलें, बताशें, पोस्टर, झालरें सहित अन्य सामग्री का विक्रय कर रहे हैं और उनके ठेलों पर भी काफी भीड़ देखी जा रही है।