शिवपुरी में कम्प्यूटर बाबा के शिष्य राधिका मोहन के टोरियन आश्रम पर जल्द हो सकती है कार्रवाई - Shivpuri News

शिवपुरी
। प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस की ओर से चंबल संभाग का प्रभारी बनाए गए कम्प्यूटर बाबा के शिष्य बाबा राधिका मोहन पर कार्रवाई के लिए अब भाजपा नेता प्रशासन पर दबाव बना रहे हैं। राधिका मोहन ने प्रदेश की 28 सीटों में से 25 सीटों पर कांग्रेस की विजय का दावा किया था।

भाजपा नेता संजय सांखला का आरोप है कि बाबा राधिका मोहन ने मेडीकल कॉलेज के पीछे स्थित बेशकिमती जमीन को अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। बाबा ने टोरियन सरकार के नाम से आश्रम भी उक्त जमीन पर बना लिया है। उन्होंने कम्प्यूटर बाबा के संरक्षण में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के दौरान उक्त जमीन पर कब्जा कर लिया था और उपचुनाव के दौरान उन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने का दावा करते हुए कहा था कि अगर प्रदेश में कांगे्रस की 25 सीटें नहीं आईं तो उन्हें ढोंगी बाबा के नाम से संबोधित किया जाए।

श्री सांखला ने तंज कसा है कि प्रदेश में कांग्रेस को महज 9 सीट हीं मिली हैं और बाबा का दावा असत्य सिद्ध हुआ है। श्री सांखला ने कहा कि बाबा द्वारा जमीन कब्जाने की शिकायत प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कलेक्टर से कर रहे हैं।  

ज्ञात हो कि उपचुनाव के दौरान भांडेर विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी फूलसिंह वरैया के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे ग्वालियर-चंबल संभाग के प्रभारी बाबा राधिका मोहन ने कमलनाथ को 25 सीटें मिलने का दावा किया था और कहा था कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो उन्हें बाबा राधिका मोहन न कहते हुए ढोंगी बाबा के नाम से संबोधित किया जाए।

लेकिन प्रदेश में कांग्रेस को महज 9 सीटें ही प्राप्त हुई और भाजपा की सरकार बन गई। भाजपा की सरकार बनते ही पहली गाज कम्प्यूटर बाबा पर गिरी। जहां उनका इंदौर में स्थित अवैध आश्रम तोड़ दिया गया और उन पर कई मुकदमे दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया। हाल ही में उनकी जमानत होने से वह बाहर आए हैं।

कम्प्यूटर बाबा पर कार्यवाही के बाद उनके शिष्यों पर भी अब भाजपा के नेता कार्रवाई कराने के प्रयासों में जुट गए हैं। शिवपुरी में टोरियन सरकार के नाम से निर्मित आश्रम को भाजपा नेताओं ने शासकीय जमीन पर अवैध कब्जा बताया है और उस पर कार्रवाई कराने के लिए वह प्रयासरत हैं।