जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए लोगों को देनी पड़ रही है रिश्वत: :यह है रेट लिस्ट - Badarwas News

बदरवास। बदरवास में जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना लोगों के लिए आसान नहीं रहा। यही वजह है कि प्रमाण पत्र बनवाने में लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। आलम यह है कि लोग जब तक रिश्वत नहीं देते तब तक उनकी फाईल आगे नहीं जाती है। रिश्वतखोरी के इस खेल में कर्मचारियों से लेकर अधिकारी तक शामिल है। बदरवास अस्पताल प्रबंधन की नाक के नीचे खुलेआम प्रमाण पत्र बनवाने के नाम पर की जा रही वसूली को लेकर चौकाने वाले तथ्य सामने आए हैं, जिसका स्टिंग किया गया। 

पहले लटकाया फिर बना दिया

एक आवेदक द्वारा जन्म प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया गया था। आवेदनकर्ता तो पहले तो कुछ दिनों तक टाला, लेकिन बाद में जैसे ही आवेदनकर्ता ने ऊपर से रुपए देने की बात कही तो काम कराने का आश्वासन भी मिल गया। रिश्वत की आधी रकम देते ही जन्म प्रमाण पत्र बनाकर दे दिया गया।

एक कॉपी का 50 रुपए

रिश्वत की रकम फिक्स नहीं है। इस मामले में तो जैसे देव, वैसी पूजा...वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। लोगों की हैसियत को देखकर रिश्वत की रकम तय की जाती है। पचास रुपए से कम किसी से नहीं लिए जाते। एक आवेदनकर्ता द्वारा चार जन्म प्रमाण पत्र बनवाए गए। जिससे एक कॉपी का 50 रुपए लिया गया। चार कॉपी का 200 रुपए शुल्क वसूल किया गया।

वरिष्ठों तक पहुंचता है यह हिस्सा

सूत्रों का कहना है कि निचले कर्मचारी का पति वरिष्ठों की आड़ लेकर अवैध वसूली कर रहा हैं। वहीं जानकार यह भी बताते है कि अवैध वसूली की जानकारी वरिष्ठों को भी है, हालांकि इसे कोई नहीं रोकता। कई वर्षों से लोगों को सुविधा मुहैया कराने के नाम पर मनमानी की जा रही है। 

यहां बनते हैं जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र

बदरवास अस्पताल में जन्में व इलाज दौरान होने वाली मृत्यु से संबंधित लोगों का जन्म/मृत्यु प्रमाण पत्र बदरवास अस्पताल के परिसर में प्राइवेट खिडक़ी पर बनाए जाते हैं। इसके लिए निर्धारित शर्तों का पालन करना पड़ता है। शर्तों का पालन कर आवेदन करने के 7 दिन के अन्दर प्रमाण पत्र बनाकर दिया जाता है, लेकिन इन बातों को दरकिनार कर लोगों को तब तक प्रमाण पत्र नहीं दिया जाता। जब तक की कर्मचारियों को रिश्वत नहीं दी जाती। 

प्रमाण पत्र बनाने वाले कर्मचारी जितेंद्र से हुई बातचीत के प्रमुख अंश

- जन्म प्रमाण पत्र बनवाना है?
बच्चा जहाँ पैदा हुआ है वहां के दस्तावेज लगाकर आवेदन कर दो।
- आवेदन तो दे चुके हैं,फिर क्यों नहीं बन पा रहा?
कुछ कमी होगी इस लिए नहीं बना होगा।
- आप देख लीजिए क्या कमी है?
अरे इतना समय कहां है। कुछ तो होगी तब ही नहीं बना होगा।
- पांच कॉपी चाहिए है मिल जाएगी?
हां, जितनी बोलोगे उतनी मिल जाएगी।
- अच्छा कितने रुपए लगेंगे?
तुम्हारे पचांस रुपए कॉपी के हिसाब से 200 रुपए लगेंगे।
- पैसे दे देंगे बन जाएगा?
हां, बिल्कुल।
इनका कहना है - 
जब इस संबंध में बदरवास बीएमओ से बात की गई तो उनका कहना था कि जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र का कोई शुल्क नहीं लगता निशुल्क बनाया जाता है 
डॉ. एचव्ही शर्मा 
BMO बदरवास