अंबेडकर मूर्ति की उंगली तोड़ने वाले दो युवक पकड़े, बोले- नशे में तोड़ी थी - Shivpuri News

शिवपुरी।
खोड़ के बरेला तिराहे पर बिना स्वीकृति के स्थापित की गई डॉ. भीमराव अंबेडकर मूर्ति की उंगली तोडऩे वाले दो युवकों को खोड़ चौकी पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने मूर्ति की उंगली नशे की हालत में तोडऩे की बात स्वीकार की है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया है।

खोड़ चौकी प्रभारी एसआई रणवीर सिंह चौहान ने बताया कि बरेला चौराहे पर अज्ञात लोगों ने बिना स्वीकृति के डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति स्थापित कर दी थी। करीब दस-ग्यारह दिन बाद 6-7 अक्टूबर की दरम्यानी रात अज्ञात लोगों ने मूर्ति की उंगली तोड़ दी थी। मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज तलाश की।

सूत्रों से पता चला कि राजकुमार परिहार और मनोज कोली निवासी खोड़ ने उंगली तोड़ी है। दोनों संदिग्धों को पकड़कर पूछताछ की तो उन्होंने शराब के नशे में उंगली तोडऩे की बात स्वीकार कर ली। दोनों ने उस दिन शाम 7 बजे से शराब पीना शुरू कर दिया था और रात 1.30 बजे बरेला चौराहे पर जाकर डंडे से मूर्ति की उंगली तोड़ दी।

मूर्ति स्थापित करने वाले आरोपियों की पुलिस अब भी कर रही तलाश

खोड़ चौकी पुलिस अभी तक मूर्ति स्थापित करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। हालांकि चौकी प्रभारी चौहान का कहना है कि मूर्ति स्थापित करने वालों का सुराग लगा रहे हैं। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा करेंगे। बता दें कि संविधान रचयिता डॉ भीमराव अंबेडकर की मूर्ति अज्ञात लोगों ऐसी विवादित और असुरक्षित जगह पर स्थापित कर दी जहां उनकी सुरक्षा संभव नहीं है। प्रशासन से भी मूर्ति स्थापना से पहले स्वीकृति नहीं ली। मामले में पंचायत सचिव ने अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस की मानें तो अब आरोपियों की तलाश की जा रही है।