नशे में धुत युवकों का अस्पताल में हंगामा, गार्ड को पीटा, नर्स को धमकाया - Shivpuri News

शिवपुरी। अमोला थाना क्षेत्र के सिरसौद कस्बे में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में बुधवार-गुरूवार की रात्रि कुछ युवकों ने जमकर हंगामा किया और गार्ड के साथ मारपीट कर दी। वहीं नर्स पर भी हमला करने का प्रयास किया। लेकिन वह किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से भाग गई और लेवर रूम में छिपकर उसने अपने आप को बचाया।

इस घटना के बाद स्वास्थ्य केन्द्र में सन्नाटा पसर गया और अन्य स्टाफ खौफ में आ गया। बाद में घटना की जानकारी पुलिस को मिली। पुलिस मौके पर पहुंची और स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टर संतकुमार शर्मा ने पुलिस को शिकायती आवेदन दिया। लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया है।

जानकारी के  अनुसार बुधवार की रात करीब 11 बजे नई बस्ती पिछोर निवासी विशंभर ठाकुर को मामूली चोट लगने पर उसके दो-तीन साथी अस्पताल लेकर आए थे। विशंभर और उसके साथी शराब के नशे में थे और नशे के कारण विशंभर अमोला क्रेशर के पास गाय से टकरा गया था।

अस्पताल में उसे देखने के लिए उसके कुछ और साथी भी वहां आ गए। जिनमें वीरू ठाकुर और राहुल गोस्वामी सहित दो अन्य युवक थे। वह भी शराब के नशे में धुत्त थे। जिन्होंने आते से ही गाली गलौच शुरू कर दी। युवकों का कहना था कि विशंभर को इंजेक्शन लगाया जाए। विशंभर इंजेक्शन नहीं लगवा रहा था।

किसी तरह नर्स संतोशी कुशवाह ने इंजेक्शन लगाया और इलाज के लिए वह उसे लेकर लेवर रूम में चली गई। इस पर उसके साथी भड़क गए। उन्होंने लेवर रूम के बाहर तैनात सुरक्षा गार्ड रामेश्वर सैन को पकड़कर जमीन पर गिरा दिया और उसे घसीटते हुए बाहर ले आए।

जहां उसकी मारपीट कर दी। इस घटना से लेवर रूम में इलाज कर रही नर्स संतोषी कुशवाह घबरा गई और वह बाहर निकलकर आई और युवकों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन युवक उसे मारने के लिए आ गए। तभी वह किसी तरह वहां से भागी और लेवर रूम में आकर छिप गई।

युवकों ने कक्काजू का आदमी बताकर दी धौंस
पीडि़त नर्स संतोषी कुशवाह और गार्ड रामेश्वर सेन का कहना था कि हंगामा कर रहे युवकों में से एक युवक उन्हें धमकाते हुए कह रहा था कि वह कक्काजू के आदमी हैं और वह इस अस्पताल पर जेसीबी चलवाकर ध्वस्त कर देंगे।

इस घटना से पूरे अस्पताल में दहशत का माहौल निर्मित हो गया। वहीं अस्पताल में भर्ती प्रसूता व अन्य मरीज भी खौफ में आ गए। इस घटना की शिकायत थाने में की गई। लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया।