मामा जी ने अपने शरीर का कण कण और समय का क्षण क्षण राष्ट्रहित के लिए किया समर्पित: शर्मा - Shivpuri News

शिवपुरी। भारत की चेतना पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रदीप्ति समाज को पथ प्रदर्शित करने का काम करती है। स्वतंत्रता के बाद भारत को एक राष्ट्र के रूप में अक्षुण्य और एकीकृत बनाये रखने में संघ की भूमिका  वँदनीय है।

उक्त विचार आज प्रख्यात समाजसेवी और आर्य समाज से जुड़े श्री समीर गांधी ने संघ कार्यालय में आयोजित माणिक चन्द्र वाजपेयी जन्मशती विशेषांक के विमोचन समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। पाञ्चजन्य द्वारा इस अंक का हाल ही में प्रकाशन किया गया है।समारोह में शिक्षाविद दिनेश शर्मा गुना, विभाग कार्यवाह राजेश भार्गव एवं जिला संघ चालक विपिन शर्मा मंचासीन थे। समारोह में बड़ी संख्या में संघ के स्वयंसेवक एवं बुद्दिजीवी मौजूद रहे।

श्री गांधी ने कहा कि भारत के लोकजीवन में आने वाले हर संकट और आपदा में  संघ ने अपनी सामाजिक और राष्ट्रीय भूमिका को पूरी प्रमाणिकता के साथ निभाया है। संघ और आर्य समाज के लक्ष्य को एक समान बताते हुए श्री गांधी ने कहा कि समकालीन सामाजिक चुनौतीयों का निराकरण संघ दर्शन के अनुकरण में ही निहित है। उन्होंने बताया कि संघ के सरसंघचालक डॉ मोहनराव भागवत भी आर्य समाज और संघ के साम्य को लेकर अपनी राय स्पष्ट कर चुके है इसलिए दोनों में किसी गतिरोध या वेमत्य का प्रश्न बेमानी है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिक्षाविद दिनेश शर्मा ने अपने मुख्यवक्ता के रूप में मामाजी के व्यक्तित्व और कृतित्व को रेखांकित करते हुए मौजूदा पत्रकारिता के चिंतनीय पक्षों पर भी विस्तार से प्रकाश डाला। श्रीशर्मा ने कहा कि संघ के प्रचारक सांगोपांग राष्ट्र जीवन के लिए समर्पित होकर समाज कार्य करते है। उनके शरीर का कण कण और समय का क्षण क्षण राष्ट्र के लिए आरक्षित होता है।

श्री शर्मा ने बताया कि मामाजी विभूतिकल्प व्यक्तित्व के धनी थे संघ ने जिस भूमिका में उन्हें दायित्व सौंपा उसे उन्होंने पूरी निष्ठा के साथ पूरा किया। प्रचारक, शिक्षक, संगठन मंत्री, पत्रकार, संपादक, सभी भूमिकाओं में मामा मानिकचंद्र जी वाजपेयी सौ प्रतिशत खरे उतरे। मामाजी की सादगी और सरलता देवतुल्य स्तर की थी जिसे आज का समाज अनुकरण कर ले तो बुनियादी समस्याओं का समाधान संभव है। समारोह में पांचजन्य द्वारा  मामाजी पर प्रकाशित विशेषांक का सभी अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया। कार्यक्रम का संचालन विभाग प्रचार प्रमुख उमेश भारद्वाज ने किया।