मॉडल एक्ट व मंडी अधिनियम संशोधन के विरोध में अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
मंडी/बोर्ड अमले को लेकर वेतन/पेंशन की व्यवस्था एवं अन्य मांगों की सुनिश्चितता हेतु बीती 6 सितम्बर को मिले आश्वासन पर कार्यवाही ना होने को लेकर संयुक्त संघर्ष मोर्चा मप्र मंडी बोर्ड भोपाल के निर्देशन में समस्त प्रदेश की मंडियों/कार्यालयों को अनिश्चितकालीन तक बंद किए जाने को लेकर शुक्रवार को प्रदर्शन किया गया।

इस प्रदर्शन का प्रभाव शिवपुरी जिले में भी देखने को मिला जहां जिला मुख्यालय के मंडी प्रांगण के बाहर मंडी के गेट पर ताला लगाकर मंडी बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर धरना दिया और अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल हुए।

इस प्रदर्शन में आर.पी. सिंह मण्डी सचिव, ललित चौधरी, शशिकांत महाजन, हजारी लाल सेन, शिवशंकर शर्मा, रामदास लोहिया, श्रीमती जूली रघुवंशी, श्रीमती जामबती बाई पाल आदि शामिल रहे जिन्होंने मंडी अधिनियम में किए गए संशोधन और मप्र सरकार द्वारा मॉडल एक्ट को लेकर किए गए संशोधन के विरोध में यह प्रदर्शन किया।

इसके पूर्व सौंपे गए ज्ञापन में संयुक्त संघर्ष मोर्चा मप्र मंडी बोर्ड को आश्वस्त किया गया था कि संचालनालय कृषि विपणन में मर्ज करने का प्रस्ताव दिया गया था लेकिन संचालक मण्डल द्वारा उक्त प्रस्ताव पर कोई कार्यवाही की आवश्यकता नहीं है का लेख किया गया है।

अत: उपरोक्त प्रस्ताव में माननीय मुख्यमंत्री की मंशानुसार कार्यवाही नहीं की गई। इस लेकर मंडी बोर्ड के द्वारा स्थगित किया गया सत्याग्रह/आन्दोलन पुन: 25 सितम्बर से अनिश्चितकालीन के लिए शुरू कर दिया गया है।

जिसमें प्रदेश की समस्त 259 मडी समितियां/07 आंचलिक कार्यालय/13 तकनीकी कार्यालय/मंडी बोर्ड मुख्यालय दिनांक 25 सितम्बर से अनिश्चितकालीन बंद रखे जाकर किसी प्रकार का क्रय-विक्रय एवं कर्यालयीन कार्य बंद रखे जावेंगें तथा कर्मचारी/अधिकारी द्वारा अपने कार्यास्थल के गेट पर धरना-प्रदर्शन मांगों की पूर्ति किए जाने तक निरंतरता में जारी रहेगा।