डब्बा व्यापारियों को बचाने को लेकर शहर में बड़े लेन-देन की चर्चा का बाजार गर्म - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
कोतवाली पुलिस ने बीते दिनों रविवार को शहर के एक व्यापारी पर डब्बा ब्यापार का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस मामले में पुलिस ने 8 अन्य लोगों पर भी मामला दर्ज किया था। परंतु अब इस मामले में पुलिस ने 8 आरोपीयों को अभयदान दे दिया है। जिसके चलते पुलिस इन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है।

इन आरोपीयों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर शहर में चचाओं का बाजार गर्म है। आरोप है कि इस मामले में हफ्ते के हिसाब से इन्हें छूट दी गई है। जिसके चलते एक बडी राशि सभी दे रहे है। यह बात सच भी इसलिए सावित हो रही है क्योंकि पुलिस छोटे छोटे मामलों में तो आरोपीयों को तुरंत दबौच लेती है। परंतु इस मामले में इन्हें अभयदान दिया गया है।

यहां बता दे कि यह मामला शहर के धनाठ्य परिवारों से जुडा होने के चलते पहले तो पुलिस ने इनके घरों पर दविश दे रही थी। परंतु जैसे जैसे यह मामला तूल पकडा उतनी ही स्पीड में यह मामला दबा दिया गया। इस मामले में पुलिस ने 8 लोगों को खुली छूट देते हुए अभयदान दे दिया। जिसके चलते घटना के लगभग डेढ महा बाद भी इस मामले मं पुलिस आरोपीयों को गिरफ्तार नहीं कर सकी।

क्या था पूरा मामला

शहर में बीते 26 जुलाई रविवार को कोतवाली पुलिस ने दीपक गर्ग को डब्बा व्यापार खिलाने के आरोप में अपने घर विजयपुर से गिरफ्तार किया था। जहां पुलिस ने दीपक सहित उसके साथी नितिन गुप्ता,कमल राठी,अंमित मंगल,राजीव जैन,बंटी बनिया,पंकज बंसल,शीतल जैन के खिलाफ धारा 420,120 बी, 23 ए के तहत मामला दर्ज किया था। जिसमें पुलिस ने एक आरोपी दीपक को गिरफ्तार होना बताया। बांकि के आरोपी फरार बताए।

इस घटनाक्रम के बाद पुलिस ने सभी अन्य आरोपीयों के घर दविश दी। परंतु आरोपी नहीं मिले। उसके बाद पुलिस शांत हो गई। जिससे यह तो तय है कि इन आरोपीयों को पुलिस ने सरंक्षण दिया हुआ है। अब यह समझ से परे है कि आखिर इन आरोपीयों को पुलिस क्यों गिरफ्तार नहीं कर पा रही है।

इनका कहना है
ऐसा नही है कि उन्हें छोडना है। हमारी पुलिस लगी हुई है। जैसी ही उनकी लोकेशन मिलेगी हम तत्काल गिरफ्तार करेंगें।
गजेन्द्र सिंह कंवर,एएसपी शिवपुरी।