अंधे कत्ल का पर्दाफाश: मुंहबोली बहन को शराब पीकर पीटता था मृतक, इसलिए तीनों ने मिलकर हत्या कर दी - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
खबर जिले के सतनवाडा थाना क्षेत्र से आ रही है। जहां आज सतनवाडा पुलिस ने एक बडा खुलासा किया है। पुलिस ने अंधे कत्ल का पर्दाफाश करते हुए आरोपी को हिरासत में ले लिया है। इस मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नि और उसके दो मुहबोले भाईयों को आरोपी बनाया है।

थाना प्रभारी सतनवाडा अमित चतुर्वेदी ने बताया है कि बीते 14 दिन से रामू आदिवासी गायब था। जिसकी लाश सिंध नदी में मिली। इस लाश को पानी में बोरे में पत्थर बांधकर फैका था। जिसके चलते इस मामले में हत्या का मामला प्रतीत होने पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर विवेचना में लिया था।

इस मामले में जब पुलिस छानबीन में जुटी तो सामने आया कि रामू आदिवासी की पत्नि अपने पति के गायब होने के 8 दिन बाद तक पुलिस के पास नहीं पहुंची। जिसके चलते पुलिस ने पूछताछ की। जिसमें सामने आया कि मृतक रामू का एक अन्य महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

इसी के चलते मृतक आए दिन शराब के नशे में अपनी पत्नि मीरा बाई उम्र 30 साल के साथ मारपीट करता था। यह बात पत्नि के मुंहबोले भाई पंचम पुत्र देवी सिंह बघेल उम्र 21 साल निवासी मडीखेडा और वृजमोहन पुत्र विजय सिंह गुर्जर उम्र 26 साल निवासी धमकन के साथ मिलकर युवक की हत्या कर लाश को सिंध में फैंक दिया था। इस मामले में पुलिस ने तीनों आरोपीयों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से सभी आरोपीयों ने जेल भेज दिया है।

इस मामले का खुलासा करने में थाना प्रभारी सतनवाड़ा उपनिरीक्षक अमित चतुर्वेदी, सउनि गजराज सिंह, विवेक भट्ट, जेहरूनिशा, प्रधान आरक्षक रामस्वरूप रावत, राजकुमार झा राजवीर सिंह, नवल सिंह एवं आरक्षक रामनिवास,रहीस खान, रूपेंद्र यादव, राहुल, जितेंद्र धाकड़, अनिल कुमार, शुभम, राहुल,रमेश लोधी और आरक्षक रमेश की सराहनीय भूमिका रही।