लेवा का मेला: कलेक्टर का प्रतिबंध तोड़कर एसडीएम परिवार सहित शामिल, भारी भीड़ / kolaras News

हार्दिक गुप्ता हैप्पी @ शिवपुरी। जिले में कोरोना का कहर जारी है। कलेक्टर अनुग्रह पी ने कोरोना के चलते धौरिया स्थिति दूल्हादेव और कोलारस के लेवा के मेले नहीं लगाने का आदेश तो जारी कर दिया। परंतु यह आदेश महज दिखावा ही साबित हुआ। आज लेवा में आयोजित मेले में हजारों की संख्या में लो पहुंचे। जिन्हें रोकने के लिए प्रशासन ने पुलिस की तैनाती तो कर दी। परंतु यह पब्लिक को नहीं रोक पाई। 

जिले के कोलारस में आज गणेश चतुर्थी के दिन विशाल मेले का आयोजन होता आया है। यहां प्रतिवर्ष लेवा पर पीलिया से पीडित लोगों के बंध काटे जाते है। मान्यता यह है कि किसी भी बच्चे को जब पीलिया होता है तो लेवा वाले बाबा का बंध लगाया जाता है। उसके बाद इस मेले में इस बंध को कटवाने जाना पडता है परंतु इन दिनों कोरोना का कहर जारी है। जिसके चलते जिला कलेक्टर अनुग्रह पी ने आदेश जारी किया कि कोरोना के चलते यह मेला नहीं लगेगा।

यह आदेश महज कागजों तक ही सीमित दिखाई दिया है। प्रतिवर्ष की भांति मेला का आयोजन हुआ और यहां हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। यहां पब्लिक को रोकने के लिए प्रशासन ने पुलिस को तैनात तो किया परंतु पुलिस इस भीड को रोकने नें नाकाम रही और यहां देखते ही देखते पारंपरिक मेला जैसे हालात दिखाई दे रहे थे। 

इस दौरान एक और दृश्य कैमरे में कैद हुआ वह चौंकाने वाला था। यहां आज शिवपुरी एसडीएम अरविंद बाजपेयी अपने पूरे परिवार के साथ इस मंदिर पर पहुंचे। उनके पास एक मासूम बालक भी था। इस मासूम का भी एसडीएम महोदय ने बंध कटवाया।

पिछोर में मटकी फोड प्रतियोगिता के आयोजन होने पर धारा 188 की कार्रवाई की गई थी अब देखना यह है कि लेवा का मेला में शामिल होने वाले एसडीएम के खिलाफ क्या धारा 188 का मामला दर्ज किया जाएगा।