खबर का असर: प्रसब के दौरान लापरवाही बरतने बाली नर्स मनीषा निलंबित / Shivpuri news

शिवपुरी। जिला अस्पताल में भाजपा नेता और पूर्व पार्षद रामू गुर्जर की भतीजी बहू अनीता पत्नी अभिषेक गुर्जर की कोख में ही मासूम की मौत की जांच एसडीएम अरविंद वाजपेयी ने की और एसडीएम की रिपोर्ट के आधार पर सीएमएचओ डॉ. अर्जुनलाल शर्मा ने लापरवाही के लिए स्टाफ नर्स सुश्री मनीषा को दोषी पाकर निलंबित कर दिया है।

मासूम की मौत के बाद डॉक्टरों और चिकित्सकीय स्टाफ के कथित खराब व्यवहार और लापरवाही की शिकायत भाजपा नेता रामू गुर्जर ने प्रदेश सरकार की मंत्री और शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे से की थी। जिस पर कलेक्टर अनुग्रह पी अस्पताल पहुंची और उनके निर्देश पर एसडीएम अरविंद वाजपेयी ने पूरे मामले की जांच कर स्टाफ नर्स मनीषा को दोषी पाया।
 
प्रसूता के परिजनों का कहना है कि शनिवार दोपहर प्रसव के लिए अनीता को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परिजन प्रसूता की स्थिति से डॉक्टरों को अवगत करा रही थी। प्रसूता को लगातार बच्चेदानी में पानी आ रहा था और परिजनों ने एक नहीं कई बार डॉक्टरों और नर्सों को इसके बारे में बताया तथा कहा कि पानी सूख जाने के कारण बच्चे को खतरा उत्पन्न हो सकता है। लेकिन आरोप है कि इस पर भी कोई ध्यान नहीं दिया।

डॉक्टर यहीं कहते रहे कि रविवार की शाम 5 बजे तक डिलेवरी हो जाएगी। इसी क्रम में रविवार सुबह करीब 11 बजे जब हालात ज्यादा बिगड़े तो डॉक्टर्स ने अनीता का अल्ट्रासाउंड किया। अल्ट्रासाउंड के दौरान पता चला कि बच्चा कोख में ही खत्म हो गया है। अनीता की यह पहली डिलेवरी थी।

बच्चा खत्म होने की बात जब सामने आई और अनीता की हालत बिगडऩे लगी तो परिजनों ने बहू को बचाने की बात कही, तो डॉक्टर असंवेदनशीलता से बोले की उसका बचना मुश्किल है। इस पर परिजनों ने तुरंत यशोधरा राजे को फोन पर मामले की जानकारी दी, तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई करते हुए कलेक्टर को अस्पताल भिजवाया। तब कहीं जाकर अस्पताल प्रबंधन ने मामले को गंभीरता से लिया।