खाना खाने फार्म हाउस पर बुलाया, फिर बंधक बनाकर पीटा, मामला दर्ज / SHIVPURI NEWS


शिवपुरी। शहर के देहात थाना क्षेत्र के ग्राम सतेरिया में एक फार्म हाऊस पर तीन युवकों को बंधक बनाकर उनकी मारपीट की और उनके मोबाइल व 21300 नगदी आरोपियों ने छीन लिए। इस घटना को रूपयों के लेन-देन को लेकर हुए झगडे के बाद आरोपियों ने अंजाम दिया। पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 387, 342, 506, 323, 34 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

जानकारी के अनुसार फरियादी देवेंद्र उर्फ लिंपा पुत्र विजय सिंह रावत निवासी ग्राम सुनारी करैरा अपने मित्र देवेंद्र जैन और रिंकू रावत के साथ कार से सवार होकर करैरा से गुना गया था। जहां देवेंद्र जैन को गन्ना फैक्ट्री से पेमेंट लेना था। लेकिन उन्हें वहां से कोई राशि प्राप्त नहीं हुई तो वह तीनों कार से वापिस करैरा आने के लिए निकले।

इसी दौरान रास्ते में देवेंद्र रावत के मोबाइल पर उसके मित्र मेजर सिंह सरदार का फोन आया। जहां दोनों के बीच बातचीत हुई, जिस पर फरियादी ने उसे बताया कि वह गुना से लौटकर करैरा जा रहा है। इतना सुनते ही आरोपी मेजर सिंह सरदार ने उससे अनुरोध किया कि वह खाना खाने के लिए शिवपुरी रूके लेकिन देवेंद्र ने यह कहकर मना कर दिया कि उसे जल्दी घर पहुंचना है।

लेकिन आरोपी ने उसे अपनी दोस्ती का वास्ता देकर उन्हें शिवपुरी रूकने के लिए कहा। इसी दौरान दूसरे आरोपी मनीष ओझा ने भी उससे कहा कि वह मित्रों के अनुरोध को ठुकराकर नहीं जा सकता। दोनों आरोपियों की मीठी-मीठी बातेें सुनकर देवेंद्र ने शिवपुरी रूककर दोस्तों से मिलने का निर्णय लिया और वह गुना वायपास पर आ गए। जहां आरोपियों ने अपने कर्मचारी नीलू को उन्हें लेने भेज दिया।

यहां से आरोपी उन्हें लेकर सतेरिया पहुंचे। जहां मेजर सिंह का फार्म हाऊस है। यहीं पर आरोपियों ने देवेंद्र रावत से उधारी के रूपए मांगे और उससे झगड़ा करना शुरू कर दिया। बाद में दोनों आरोपियों ने देवेंद्र रावत, रिंकू रावत और देवेंद्र जैन को फार्म हाऊस पर बने एक कमरे में बंधक बना लिया और तीनों की मारपीट की।

साथ ही तीनों के मोबाइल 21300 रूपए छीन लिए। किसी तरह तीनों युवक बंधन तोड़कर वहां से भागे और थाने आ गए। जहां पुलिस को पूरी घटना का विवरण दिया। जिस पर पुलिस ने दोनों आरोपी मेजर सिंह सरदार निवासी सतेरिया और मनीष ओझा निवासी झांसी तिराहा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली।