जिले में घूम रहा हैं चलता फिरता कोरोना: कहीं आपके पास तो नही हैं यह पॉजीटिव महिला / Shivpuri News

शिवपुरी। जिले इस समय एक पॉजीटिव महिला के रूप में चलता फिरता कोरोना का संक्रमण घूम रहा है। स्वास्थ्य विभाग उसे तलाश कर रहा हैं। बताया जा रहा हैं कि कल के कोरोना बुलेटिन में खनियाधाना की महिला पॉजीटिव आई है। अब वह गायब हैं स्वास्थ्य विभाग उसे तलाश रहा हैं महिला को यह पता भी नही हैं कि वह पॉजीटिव हैं।

जानकारी के अनुसार कल शाम आये हेल्थ बुलेटिन में खनियाधाना की जो महिला राजकुमारी रजक कोरोना पॉजिटिव निकली वह कल से लेकर आज तक लापता है, उसके परिजन अब तक उसका कोई सुराग नहीं लगा पाए हैं। कोरोना पॉजिटिव आने के बाद जब स्वास्थ्य महकमे ने उस महिला के नाम के साथ दिए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया।

परंतु लगातार संपर्क करने के बाद भी यह नंबर नहीं लगा। जब खनियाधाना जाकर उसके दिए पते पर संपर्क करने का प्रयास किया तो पता चला कि वह 2 दिन पहले जांच कराने शिवपुरी गई थी और तब से लौटी ही नहीं। जब स्वास्थ्य टीम उसके घर पहुंची तो परिजन स्वयं सन्न रह गए क्योंकि पहले उन्हें यह लगा कि शायद बीमारी के चलते वह जिला चिकित्सालय में भर्ती हो लेकिन जब स्वयं स्वास्थ्य विभाग ही उसकी खोज में पहुंचा तो फिर परिजन भी उसकी खोज में लगे।

सूचना के 18 घंटे बाद भी अब तक उस महिला का कोई सुराग नहीं लगा है और स्वास्थ्य महकमा भी उसे लेकर कोई हरकत में दिखाई नहीं दे रहा है।

स्वास्थ्य महकमे के आला अधिकारी का कहना है कि हमने बीएमओ के माध्यम से पता लगाने का प्रयास किया लेकिन अब तक उसका कुछ पता नहीं चला है। अब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस मामले की शिकायत पुलिस से करने की बात कर रहे हैं। सवाल यह उठता है कि जब यह महिला जांच कराने शिवपुरी आई और उसका जिला चिकित्सालय में कोरोना सैंपल भी लिया गया तो फिर उसके बाद वह महिला कहां लापता हो गई।

अब वह महिला चलता फिरता कोरोना का संक्रमण बन गई है। उकत महिला किसी के संपर्क में नही हैं उसे पता भी नही हैं कि वह कोरोना पॉजीटिव है। अब वह जिसके भी घर रूकी हैं या पिछले 2 दिन से  जिसके भी संपर्क में आई हैं उनके भी संक्रमित होने का खतरा बढ रहा है।

पिछले कई दिनो से देखने को मिल रहा हैं कि जो हैल्थ बुलेटिन जारी होता हैं इसके बाद जांच करवाने वाले लोगो की जो लिस्ट आती हैं उस पर नाम नंबर ओर पता गलत निकलकता है। कई बार असमंजस की स्थिती उत्पन्न हुई हैं। अब इस महिला का मोबाईल नंबर गलत हैं लग नही रहा है। उधर बीएमओ खनियाधाना का कहना हैं कि यह महिला हमारे यहां से जांच कराने नही गई हैं।

यह सीधे अस्पताल जाकर अपनी जांच कराने गई हैं। हमे तो जिले से फोन आया जब हम इसे बताए गए पते पर तलाशने गए तो यह वह नही मिली पता ही गलत हैं इस नाम की कोई महिला यह नही रहती है। अब प्रशासन कैसे इस महिला की जानकारी जुटाऐगा समझ से परे हैं। इस पूरे प्रकरण में स्वास्थय विभाग की लापरवाही नजर आ रही है कि कैसे महिला का नाम और नंबर गलत नोट कर लिया। महिला तो पता गलत दर्ज नही कराया होगा।  

अब सबाल है कि अब यह किन लोगों के संपर्क में आई है। अब यह खुलेआम घूम रही है तो कितने लोगों को इसने संक्रमित किया होगा यह बडा सबाल है। अब देखना यह है कि आखिर स्वास्थ्य विभाग इसे कब तक खोज पाता है।