अमानक चना काण्ड:समिति प्रबधंक विमल यादव सहित 3 पर मामला दर्ज,मिलावट हो रही थी गोदाम में / POHRI NEWS

पोहरी। पोहरी अनुविभाग के अंतर्गत आने वाले ग्राम भटनावर के एक सहकारी संस्था के गोदाम पर पोहरी एसडीएम पल्लवी वैद ने छापामार कार्यवाही की। इस कार्रवाही में अवैध और अमानक चना और सरसो की बोरी पकडी गई हैं। इस मामले में देर रात पोहरी थाने में 3 आरोपियो पर मामला दर्ज किया गया हैं।

जैसा कि विदित हैं कि भटनावर ग्राम के आमतला रोड पर नवनिर्मित गोदाम जो कृषि साख,सहकारी संस्था मर्यादित भटनावर का हैं। इस गोदाम में पोहरी एसडीएम पल्लवी वैद को अमानक चना और सरसो रखे जाने की सूचना प्राप्त हुई। इस सूचना पर पोहरी एसडीएम पल्लवी वैद के साथ पोहरी तहसीलदार सतेन्द्र सिंह गुर्जर,पोहरी थाना प्रभारी ,सहकारी संस्थाओ के अधिकारियो सहित पटवारी ओर भटनावर चौकी अमले ने छापामार कार्रवाही को अंजाम दिया।

बताया जा रहा हैं कि इस गोदाम में अमानक चना (850 बोरा) 425 क्विटल (44 बोरा) सरसो 22 क्विटंल जब्त की गई जो इस गोदाम में अवैध रखी गई थी। बताया गया हैं कि इस गोंदाम में इस रखे अमानक चने और सरसो को भटनावर उपज केन्द्र के माल में मिला दिया जाता अगर सही समय पर प्रशासन छापामार कार्रवाही नही करता।  

गोदाम पर शिशुपाल रावत पुत्र कमल रावत और दिपू पुत्र उर्फ महेन्द्र रावत पुत्र नरेश रावत निवासीगण ग्राम भटनावर मिले। पूछताछ में इन दोनो ने बताया कि वारदाना,टेग और तौल कांटा,चना और सरसो विमल यादव के हैं। चना और सरसो को विमल यादव हम लोगो से राात्रि में इसी गोदाम के अंदर तौलकर बोरियो में भरवाकर टैग लगवाकर सिलवाया जाता हैं। टैग व वारदाना उपार्जन केन्द्र भटनावर के हैं।

शिशुपाल रावत और दिपू ने बताया कि अवैध तरिके से चना और सरसो मंगवाया जाता हैं और भटनावर उपार्जन केन्द्र की बोरियो में भरवाया जाता हैं और इन बोरियो को उपार्जन केन्द्र के माल में मिलवाया जाता हैं।

पोहरी थाना पुलिस ने इसे मामले में फरियादी बने फरीयादी नेताराम बारेलिया पुत्र स्व:सरमनसिंह बारेलिया के आवेदन पर धारा 420,418,272,273,34 के तहत आरोपी शिशुपाल रावत पुत्र कमल रावत,दीपू उर्फ महेन्द्र रावत पुत्र नरेश रावत निवासी ग्राम भटनावर पोहरी,विमल यादव निवसी ग्राम जाखनौद पोहरी पर मामला दर्ज कर लिया गया हैं।

इस मामले में आरोपी बनाया गया विमल यादव भटनावर उर्पाजन केन्द्र का प्रबंधक हैं और इस समय यहां किसानो की खरीदी चल रही हैं। किसानो की खरीदी में प्रतिदिन अनिमितताओ की खबरे भी आ रही थी।