जिला चिकित्सालय में इलाज करा रही 13 वर्षीय बालिका हुई कोरोना पॉजीटिव / Shivpuri news

शिवपुरी। पूरे जिले की आबादी को स्वस्थय रखने की जिम्मेदारी जिला स्वास्थय विभाग की है। इस समय कोरोना काल चल रहा हैं। स्वास्थय विभाग रेड अलर्ट पर हैं। कोरोना के चलते देश कई लॉकडाउनो से गुजर रहा हैंं अब अनलॉक 1 को फेस रहा हैं। जिले में कोरोना पॉजीटिव मरीजो का स्वस्थय होने का आंकडा बहुत बेहत्तर हैं।

लॉकडाउन में शिवपुरी को ऐसे कोरोना पॉजीटिव मरीज मिले थे जिनकी एक ट्रेवल हिस्ट्री थी। लगभग सभी मरीज जिले और प्रदेश के बहार से लौटे थे। लेकिन अनलॉक 1 में कुछ ऐसे मरीज मिले हैं,जिनकी ट्रेवल हिस्ट्री जीरो हैं। ट्रेवल हिस्ट्री जीरो मरीज का जन्म जिला अस्पताल से हुआ। वहा एक चिटौरा गांव का आदिवासी था।

ट्रेवल हिस्ट्री जीरो इस कारण थी कि वह जिले से बहार नही गया और जिला चिकित्सालय में ही अपना ईलाज करा रहा था। इस मरीज को जिला चिकित्सालय से ही कोरोना चिपका था। दूसरा ट्रेवल हिस्ट्री जीरो मरीज मिला कोर्ट पर जो कपडा व्यवसाई हैं उसने अपनी जांच सिर्फ इस लिए कराई थी कि वह अपनी फैमिली के साथ भोपाल रहा था। उसकी जांच रिर्पोट पॉजीटिव आई फिर उसकी फैमिली से उसके पिता भी पॉजीटिव हो गए। इस केस की ट्रेवल हिस्ट्री जीरो हैं।

अब तीसरी ट्रेवल हिस्ट्री जीरो की खबर जिला चिकित्सालय से आ रही हैंं जहां एक 13 साल की पोहरी क्षेत्र की एक बालिका पॉजीटिव आई है। यह अपने घर पर गिर गई थी और इसका कूल्हा फेक्चर हो गया था। बताया जा रहा हैं कि इसे 13 जून को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था। अब इसकी जांच रिर्पोट भी कल देर रात पॉजीटिव निकली हैं। जिला चिकित्यालय इसे कोरोना चिपका हैं।

जिला चिकित्यालय से जन्म लेने वाला यह दूसरा केस हैं। यह बात जिले के उन तमाम मरीजो को डराने वाली हैं जो जिला चिकित्सालय में ईलाज करा रहे कि जिला स्वास्थय विभाग अपने ही घर को स्वस्थय नही रख पा रहा हैं अगर चिकित्सालय से ही कोरोना का जन्म होगा तो स्वास्थय विभाग कोरोना से कैसे जंग करेगा।