विश्व के सिस्टम को हिलाने वाला कोरोना शिवपुरी में पहली ही सीढी पर हुआ ढेर, सभी राहतो की उम्मीद / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। देश के सिस्टम हिलाने वाला कोरोना का संक्रमण शिवुपरी में पहली सीढी पर ढेर हो गया। अपनी दूसरी सीढी नही चढ सका। कोरोना के 3 चरण बताए जाते हैं और चौथा चरण महामारी के रूप में बताया गया हैं। इंदौर में कोरोना तीसरे चरण में पहुंच चुका हैं,लेकिन शिवपुरी जिले में कोरोना पहले ही चरण में ढेर हुआ है।

शिवुपरी में मिले कोरोना के मिले 2 पॉजीटिव मरीज स्वस्थय होकर चले गए,इसमें सबसे बडी और जिले के लिए यह राहत भरा रहा कि इन दोनो मरीजो से कोरोना कॉरियर नही हुआ इनसे कोरोना का संक्रमण कोरियर होकर इनके पजिनो तक नही गया। इसलिए कोरोना जिले में अपनी दूसरी चरण में नही पहुंच सका। 

ज्ञात हो कि कोरोना में मप्र में दस्तक सबसे पहले जबलपुर में दी और इसके बाद शिवपुरी दूसरा जिला था,जहां कोरोना पॉजीटिव 2 मरीज मिले थे। सैंपल रिर्पोट पॉजीटिव आने के बाद दोनो मरीजो के परिवार जनो को आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती किया,जब इनकी सैंपल रिर्पोट आई तो वह निगेटिव निकली तो समझ में आ गया की यहां कोरोना पहली सीढी पर ही हैं।

यह हैं पहला चरण कोरोना का

बाहर से आने वाला व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो गया। वह संक्रमण उसे अपने ही जिले से नही आया। किसी दूसरे जिले या प्रदेश या विदेश से आया हैं। जैसे शिवपुरी के प्रथम कोरोना पीडित मरीज दिपक शर्मा कोरोना विदेश से लेकर आए था,वही दूसरा कोरोना पीडित मरीज खनियाधाना का समीर हैदराबाद से ट्रेन से संक्रमित होकर आया था।

यह हैं दूसरा चरण

कोरोना की दूसरी स्टेज वही मानी जाती हैं जिसमें संक्रमित उन सभी को वायरस कोरियर करता हैं जो उसके नजदीक के हैं जैसे परिवार,इस चरण में कोरोना पॉजीटिव स्वयं वायरस का संवाहक होता हैं,जिससे वह दूसरे लोगो को संक्रमित करता हैं। लेकिन शिवुपरी के दोनो पॉजीटिव मरीजो के परिजनो की निगेटिव आई थी। जिससे यह सिद्ध हो गया कि संक्रमित व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को संक्रमित नही कर रहा हैं।

तीसरा चरण,सबसे खतरनाक  

कोरोना का तीसरा चरण खतरनाक माना गया हैं। यह कोरोना चैन के रूप में फैलता हैं,यह यू कह लो कि इस चरण में बाहर से आने वाले व्यक्ति ने किसी दूसरे को संक्रमित किया और दूसरे ने तीसरे या उससे संपर्क में आए व्यक्ति को यह संक्रमण फैल गया। इंदौर में तीसरे चरण में यह संक्रमण फैल गया। जिसके चलते इंदौर में यह संक्रमण बहुत तेजी से फैल गया और यह प्रदेश में सबसे ज्यादा इस संक्रमण के कारण सबसे ज्यादा मौते हुई हैं।

इनका कहना हैं

शिवपुरी में कोरोना पहल फेज मे ही रहा और हमने उसे समय रहते काबू में कर लिया,पहला चरण बाहर से आने वाले व्यक्ति का संक्रमित होना हैं,दूसरे चरण में संक्रमित से संक्रमण फैलता हैं। पॉजीटिव का नजदीकी यादि संक्रमित होकर किसी तीसरे को संक्रमित करता है तो वह तीसरा चरण है जो इंदौर में चल रहा हैं।
डॉ एएल शर्मा,सीएमएचओ ,शिवुपरी