यथा नाम तथा काम:लॉकडाउन में लॉक फैक्ट्री में मिला मजदूरो को काम / Shivpuri news

शिवपुरी। देश में जब से लॉक डाउन की शुरुआत से ही लोगों की मदद के लिए राजमाता विजयाराजे सिंधिया सेंटर फॉर डेवलपमेंट ट्रस्ट काम कर रहा है। शिवपुरी विधायक  यशोधरा राजे सिंधिया के निर्देशन में ट्रस्ट द्वारा अभी तक कई जरूरतमंद परिवारों को राशन और खाने के पैकेट उपलब्ध कराए गए हैं।

इसके साथ ही कोरोना ड्यूटी में लगे कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ट्रस्ट द्वारा जिला चिकित्सालय को 500 पीपीई किट भी उपलब्ध कराई गई हैं। शनिवार को ट्रस्ट से जुड़े सदस्यों द्वारा जिला चिकित्सालय पहुंचकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.एल.शर्मा और सिविल सर्जन डॉ पी.के.खरे को यह किट भेंट की गईं। ट्रस्ट द्वारा 500 पीपीई किट जिला चिकित्सालय को दी गई है।

यथा नाम तथा काम:लॉकडाउन में लॉक फैक्ट्री में मिला मजदूरो को काम
शिवपुरी के बदरवास में पिछले लगभग चार दशक से गुढाल गारमेंटस की फर्म जैकेट बनाने का कार्य कर रही थी। इस फर्म की जैकिटों की प्रदेश के साथ-साथ देशभर में बिक्री है, पूर्व में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इनकी सराहना भी कर चुके हैं। वर्तमान में लॉक डाउन के चलते जैकेट का कारोबार पूरी तरह से बंद पड़ा हुआ है। इस कारखाने में लगभग 1 हजार मजदूर कार्य करते थे जो कि बेरोजगार हो गए थे।

इस मामले की जानकारी जब शिवपुरी विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को लगी तो उन्होंने गारमेंटस के संचालक धर्मेंद्र अग्रवाल (जोकि आरएसएस में जिला शिवपुरी के सह.जिला कार्यवाह के पद पर पदस्थ हैं) कविता मनोज अग्रवाल को प्रोत्साहित करते हुए उनसे कहा कि वह जैकिटों के स्थान पर कोरोना काल में पीपीई किटों का निर्माण करें। 

जिससे एक तो मजदूरों को रोजगार मिलेगा साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुरूप स्वदेशी को बढ़ावा भी मिलेगा और पीपीई किटों का जो अभाव दिखाई दे रहा है वह भी खत्म हो जाएगा। गारमेंटस के संचालकों को यशोधरा राजे सिंधिया द्वारा किए गए प्रोत्साहन का असर यह देखने को मिला कि बाजार में जो पीपीई किट उपलब्ध हो रही है उनसे अच्छी गुणवत्ता युक्त किटें इस गारमेंटस के कर्ताधर्ता ने निर्माण कर दी। पीपीई किटों के अलावा मास्क सहित अन्य सामग्री भी इस गारमेंटस के द्वारा बनाई जा रहीं हैं।

सीएमएचओ से समझे मापदंड और तैयार होने लगी पीपीई किट
पीपीई किट तैयार करने वाले गुढाल गारमेंट्स के संचालक धर्मेंद्र अग्रवाल, मनोज अग्रवाल, बबीता अग्रवाल ने संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के द्वारा दिए गए प्रोत्साहन के बाद वह किट बनाने के लिए उत्साहित थे, जिसके चलते उन्होंने सीएमएचओ अर्जुन लाल शर्मा से चर्चा कर किट बनाने के मापदंडों को समझा और इनका निर्माण कार्य शुरू कर दिया।

उक्त जनों ने बताया कि  किट में  90 जीएसएम  कपड़े का उपयोग किया जा रहा है किट को पूरी तरह से टाइपिंग भी की जा रही है गूगल मास्क n95 मस्क सहित अन्य सामग्री भी पूर्ण रूप से गुणवत्ता युक्त और अच्छी बनाई जाकर वायरस फ्री किट तैयार की जा रही है जो कि बाजार में मिल रही किड से कई गुना अच्छी है।

प्रतिदिन दो सैकड़ा से अधिक किटों का कर रहे है निर्माण
गारमेंट्स के संचालक ने बताया कि वर्तमान में कारखाने पर 4 दर्जन से अधिक कारीगर लगे हुए हैं। जिनके द्वारा प्रतिदिन दो सैकड़ा से अधिक किटें तैयार की जा रही हैं। अभी तक 4500 किट तैयार की जा चुकी है।ऑर्डर अधिक आ रहे हैं। मिल रहे आर्डरों के आधार पर कारीगर और लेबर को बढ़ाकर हम प्रतिदिन 1 हजार किट भी तैयार कर सकते हैं।

इनका कहना है
देश के पीएम ने स्वदेशी को बढावा देने का आव्हान किया था। बदरवास की यह फैक्ट्री लॉकडाउन में बंद हो गई थी,और इसमें लगे मजदूर बेरोजगार हो गए थे। मुझे जानकारी लगी तो इस फैक्ट्री के संचालको से बात की और पीपीई किटो की निर्माण की बात कही। इससे स्वदेशी को बढावा मिलेगा और मजदूरो को काम
यशोधरा राजे सिंधिया,पूर्व कैबिनेट मंत्री व विधायक शिवपुरी