जिले की NO.1 बनी मजदूर किचिन: सोशल से हुई शुरूवात, 60 हजार से अधिक मजदूरो को भोजन / KOLARAS NEWS

कोलारस। विश्वव्यापी कोरोना संकट मे हमारा देश भी अछूता नहीं है इस महामारी के चलते पूरे देश मे अफरातफरी मची हुई है इस समय लॉक डाउन के चलते देश के विभिन्न प्रदेशों से हजारों प्रवासी मजदूर अपने अपने गृहनगर की ओर निकल रहे है लॉक डाउन के चलते आवागमन के आलावा खाने पीने की भी भारी परेशानी का सामना प्रवासी मजदूरों को करना पड़ रहा हैं।

खाने की समस्या को देखते हुए कोलारस नगर में विगत डेढ़ माह से अनेक सामाजिक संगठन जनसेवा में लगे हुये है इस अभियान में कोलारस नगर की उत्सव वाटिका में जनता किचिन के नाम से संचालित प्रवासी मजदूरों के लिए चल रही जनता किचिन में नगर के समाजसेवियों के सहयोग से प्रतिदिन 12 से 15 हजारों खाने के पैकेट वितरण प्रवासी मजदूरों को किया जा रहा है।

इस अभियान में कोलारस के अनेक समाजसेवी संगठन एव कार्यकर्ता पूरे तन मन धन से किया जा रहा है। जिसका 4 दिन में समापन हो गया इंया कार्य मे मोनू प्रधान के साथ अन्य समाजसेवियों का अहम योगदान रहा है मोनू प्रधान ने बताया कि इस कार्य के चलते हर रोज 10 से 15 हजार लोगो के पैकिट वितरण किये गए हैं। 

पांच दिन चली जनता किचिन में लगभग 60 से 70 हजार भोजन पैकिट वितरण किये गए खास बात इस किचिन में यह रही न किसी का बैनर था न किसी का नाम न किसी का फोटो किचिन के संचालक मोनू प्रधान ने बताया की जब इस किचिन की शुरुवात सोशल मीडिया के माध्यम से की गई थी की जो भी दान दाता इस किचिन में सहयोग करना चाहता है वह राशन भेज सकता हैं।

जब किचिन की शरुवात हुई तो प्रथम दिन 8 से 10 हजार पैकिट बने थे फिर यह जन कारवां बढ़ता गया ओर इस किचिन ने शिवपुरी ज़िले की अलग पहचान बना ली और इसमे लगभग 60 से 70 हजार मजदूरों को भोजन वितरण किया गया।

सबसे बड़ी बात यह रही इस किचिन में विधायक वीरेंद्र रघुवंशी पूर्व विधायक महेंद्र यादव एसडीएम आशीष तिवारी ने खुद आकर किचिन की व्यस्ताओं का निरीक्षण किया ओर कार्य की सराहना की मोनू ने बताया की जब यह किचिन चालू की गई थी जब हाइवे पर कही भी भोजन वितरण नही हो रहा था मेरा मकसद भी यही था इससे लोग आगे आये और जागरूक होकर मजदूरों को भोजन वितरण करे और आज इस हाइवे पर लगभग दर्जनों जगह पर मजदूरों को भोजन वितरण किया जा रहा हैं।