इस बैंक की भीड में कोरोना भी कुचल गया होगा / khaniyadhana News

शिवम पांडे/खनियाधानां। खबर जिले के पिछोर अनुविभाग के खनियाधाना के बैंक से आ रही हैंं। जहां ग्राहको की भीड में कोरोना भी कुचल गया होगा। बैंक के द्धवारा पर लोगो की उमड रही भीड को देखकर लगता हैं बैंक आज दान में पैसे बांट रहा हो। यह बोलते हुए फोटो बैंक प्रबधंन की लापरवाही स्पस्ट रूप से दिखा रहे हैं।  

जैसा कि विदित हैं कि एक छोटे से संक्रमण जो दिखाई नही देता उसने ऐसे ऐसे हालात इस विश्व को दिखा दिए जो कभी भी सपने में देखने की नही सोची होगी। लोगो को आपस में दूर रखने के लिए देश को लॉक किया गया। मेडिकली कफ्यू लगाया गया जिससे देश में सोशल का डिस्टेंस के नियम का पालन हो।

लेकिन खनियाधाना के पंजाब नेशनल बैंक से जो तस्वीर आ रही हैं वह बेहद डरावनी आ रही है। फोटो में आप साफ देख सकते हैं कि बैंक प्रबंधन की लापरवाही। बैंक गेट पर सैकडो लोग खडे है ऐसा लग रहा हैं कि वह गेट को तोडकर अंदर घुसने का प्रयास कर रहे हो।

बैंक प्रबंधन ने ऐसा कुछ नही किया कि बैंक के आने वाले ग्राहक सोशल डिस्टैंस का पालन करे। यह भीड ना तो मास्क लगाए हैं ना ही यह सैनेटाईजर का प्रयोग किया जा रहा है। अगर इस भीड में एक भी कोरोना से सक्रंमित है तो यह पूरी भीड को संक्रमित कर सकता हैं बैंक कर्मियो को भी।

बताया जा रहा हैं कि खनियाधाना से 4 किलोमीटर दूर पंजाब नेशनल बैंक में जनधन खाते से रुपये निकालने के लिए बैंकों में लगने वाली लंबी लाइनें लग रही है। सुबह होते ही बैंकों में सैकड़ों की तादात में लोग पहुंच जाते हैं।

मालूम हो कि मनरेगा के जाबकार्डधारकों, विधवा, वृद्धावस्था पेंशनर के साथ ही जनधन खाते में पैसा पहुंचने के बाद लोग उसे निकालने के लिए इन दिनों उतावले हैं जब 10 बजे कर्मचारी पहुंचे तब तक सैकड़ों लोग बाहर जमा हो चुके थे। वर्किंग टाइम लाकडाउन के कारण केवल चार घंटे होना और भीड़ बढ़ जाने से व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं।

लोगों ने मांग की कि बैंक की वर्किंग टाइम बढ़ाया जाए तक की जाए। क्योंकि ग्रामीण क्षेत्र में ज्यादातर लोगों के पास एटीएम न होने के कारण कैस निकालने के लिए बैंक ही एकमात्र सहारा हैं,लेकिन बैंक को किसी भी हालत में सोशल के नियम का पालन अपने ग्राहक से कराना हैं यह तस्वीरे बैंक प्रबंधन की गंभीर लापरवाही उजागर करती हैं।