3 साल की गांरटी वाला सायलो बैग 1 साल में ही फटे, हजारों मैट्रिक टन गेंहू सड़ने के कगार पर

कोलारस। खबर जिले के कोलारस तहसील के बैहटा साईलो केन्द्र से आ रही हैं। जहां पिछले वर्ष का समर्थन मूल्य पर खरीदा गया 42 हजार मेट्रिक टन गेंहू सायलो बैग केन्द्र पर रखा गया हैं। बताया जा रहा हैं कि इस केन्द्र पर 20 सायालो बेग फट गए हैं जिससे हजारो क्विटंल गेंहू सडने के कगार पर पहुंच गया हैं।

जानकारी के अनुसार जिले के कोलारस तहसील मैं स्थित सायलो बैग केंद्र पर विगत वर्ष  42218 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई थी जिन्हें 138 सायलो बैग में भरकर रखा गया था बैगो की गुणवत्ता ठीक न होने के चलते दिन व दिन बैग फटते नजर आ रहे हैं। पनामा कंपनी ने इस सायलो केन्द्र के रखरखाब की जिम्मेदारी दी गई थी,बताया जा रहा है कि इन सायालो बैगो की 3 साल की गांरटी हैं,लेकिन एक की साल में फट गए।

वर्ष 2019 में समर्थन मूल्य पर साईंलो केंद्र बेहटा पर खरीदे गए गेहूं को जेसीबी से ट्रॉलीओं में भरकर वर्ष 2020 में खरीदे जा रहे हैं गेहूं में मिलाया जा रहा है पुराने गेहूं में नया गेहूं मिलाने से गेहूं के के कारण पूरा गेंहू खराब होने की संभावना हैं। इस संबंध में जब साइलो केंद्र प्रबंधक सत्येंद्र तिवारी से बात की गई  तब उन्होंने बताया कि अभी एक बैग को सही कर रहे हैं क्योंकि वह ज्यादा फट गया है छह-सात बैग तापमान वेरिएशन के कारण फट गए हैं फटे हुए बैगों को नए बैगो में शिफ्ट किया जाएगा।

दुर्गंध दे रहा बैगो में रखा गेहूं
साइलो केंद्र पर बैगो के फटने से गेहूं बारिश में भीग गया जिसके कारण वह सड़ गया है  जिस की दुर्गंध दूर दूर तक आ रही है जबकि वर्तमान में पनामा कंपनी ही साइलो बैग केंद्र का संचालन कर रही है बावजूद इसके परिसर में सड़ रहे गेहूं की फिक्र नहीं है यदि ध्यान नहीं दिया गया तो संक्रामक बीमारी फैलने की आशंका है

इनका कहना है
यह मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है इस संबंध में आप एमपीडब्ल्यूएलसी अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं
चंद्रशेखर शरणागत,डीएम नान

इनका कहना है
मुझे भी साइलो केंद्र पर अनियमितताए देखने को मिली है जल्द ही भोपाल से टीम आएगी एवं जांच कर कार्रवाई की जाएगी
राजेश पाठक,एमपीडब्ल्यूएलसी अधिकारी