थाने में आई देवी, कहा मेरे आगे ढोक लगाओ नही तो थाना भस्म कर दूंगी | Shivpuri News

शिवपुरी। देश लॉकडाउन हैं,देश को सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के लिए लॉकडाउन कराया जा रहा हैं। इस सनातन धर्म की धरती पर पहली बार ऐसा हुआ कि नवराात्रि में भी मंदिरो के भी पट बंद रहें हैं। लोग घरो में ही पूजा पाठ कर रहे हैं।

बीते रोज फिजीकल थाना क्षेत्र में एक मंदिर के पट खोलकर पूजा पाठ किया जा रहा था। पुलिस मंदिर के पुजारी को पकड लाई तो उसकी पत्नि थाने में आ गई और हंगामा करने लगी, महिला ने थाने में आकर कहा कि मेरे आगे ढोक लगाओ नही तो थाना भस्म कर दूंगी।

जानकारी के मुताबिक चीलौद क्षेत्र में गुरुवार की देर शाम फिजीकल टीआई सुनील खेमरिया टीम के साथ भ्रमण पर निकले। चीलौद क्षेत्र में कोलियों का मंदिर (काली माता मंदिर) पर महिलाएं और बच्चों की भीड़ दिखाई दी। यहां पुजारी रामू कोली ने रामनवमीं के उपलक्ष्य में मंदिर के पट खोलकर पूजा शुरू करा दी थी।

पुजारी रामू कोली को थाने ले आए। कुछ देर बाद उसकी पत्नी भी थाने आ गई। थाना परिसर में शरीर में देवी उतर आने जैसा व्यवहार करने लगी। करीब आधा घंटे तक पुलिस वालों को परेशान करती रही। पुलिस ने रामू कोली के खिलाफ धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया है।

पहले ढोक लगाओ, मेरे दर्शन करके पूछाे

फिजीकल थाना परिसर में पुलिसकर्मियों ने हंगामा कर रही महिला से पूछा कि बाई आपकी क्या समस्या है। इस पर महिला कहने लगी कि मेरी कोई समस्या नहीं है। पहले ढोक लगाओ, मेरे दर्शन करके पूछाे, भगतजी को कैसे लै गओ। वो मेरी सेवा कर रहा है। महिला खुद को देवी मां बताकर भगवतजी (पुजारी) को छोड़ने के लिए धमकाने लगी। कहने लगी कि नाश कर दूंगी, थना भस्म कर दूंगी।