लॉक डाउन: अब अगर घर से फालतू बाहर निकले तो लगानी पड सकती है झाडू, देखें VIDEO

शिवपुरी। शहर के लोगों को पुलिस और प्रशासन सहित सरकारें कोरोना जैसी महामारी को लेकर जागरूक करने का काम किया जा रहा है। लेकिन शहर की जनता है कि मानने को तैयार ही नहीं। रविवार को केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित राज्यों को सख्ती से लॉकडाउन लागू कराने के निर्देश दिए थे और इसमें चूक  होने पर जिले के  डीएम और एसपी की जिम्मेदारी तय होने की बात कही थी।

इसके बाद से ही पुलिस प्रशासन आज सख्त हो गया है। शहर में बाइकों से घूम रहे लोगों को पुलिस ने रोकना शुरू कर दिया है। वहीं कईयों को वापस घर भेज दिया, जो लोग बिना काम के सडक़ों पर घूम रहे थे उन्हें पुलिस ने रोककर सडक़ों पर झाडू लगवाई। वहीं कई वाहनों की हवा भी निकाली।

गुरूद्वारा चौराहे पर यातायात पुलिस ने कल की तरह आज भी चालानी कार्रवाई की और उन्हें सख्ती से निर्देशित किया कि अब वह अगर बाइक लेकर शहर में घूमते पाए गए तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जो लोग राशन व अन्य सामान लेने बाजारों में आए थे उन्हें भी हिदायत दी गई है कि वह पैदल ही घर से निकले और अपना राशन व अन्य सामान लेकर घर चले जाएं। नहीं तो उन्हें कार्रवाई की जद से गुजरना पड़ेगा।

अभी तक कफ्र्यू का पालन शहर के लोग नहीं कर रहे थे। इसके पीछे प्रशासनिक हीलाहवाली थी। लेकिन अब केंद्र के आदेश के बाद शहर में सख्ती का दौर दिख रहा है। पुलिसकर्मी चुस्त दुरूस्त होकर चैकिंग पॉइंटों पर तैनात हैं। जो वाहनों की आवाजाही पर नजर रखे हुए हैं। आज पुलिसकर्मी लोगों को बाइकों का उपयोग करने से रोकते देखे गए। उन्होंने लोगों को समझाईश भी दी कि आज से शहर में बाइकों का आवागमन पूर्णत: बंद कर दिया गया है। इसलिए लोग इसका ध्यान रखें। अन्यथा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बैंकों पर आए लोग कर रहे हैं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

शहर के विभिन्न बैंकों पर लेन-देन के लिए पहुंच रहे लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। शहर के बैंक ऑफ इंडिया, गुरूद्वारा चौराहे पर स्थित भारतीय स्टेट बैंक, कोर्ट रोड़ पर सेंट्रल बैेंक, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक सहित अनेकों बैंकों पर आज बैंक खुलते ही लाइनें लग गई। लोगों के बीच का फांसला करीब एक मीटर था। बैंक प्रबंधन ने पहले से ही बैंकों के आगे गोले लगाकर व्यवस्था कर दी थी।  

शहर की सीमा में प्रवेश करने वाले बाहरी लोगों की रूकने की जाएगी व्यवस्था

लॉॅकडाउन के बीच गुजरात और महाराष्ट्र से बड़ी संख्या में पलायन कर रहे दिहाड़ी मजदूर और कामगारों की टोलियां मध्यप्रदेश के अन्य शहरों से गुजरकर शिवपुरी तक पहुंच रही हैं। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने शहर की सीमाएं सील कर दी हैं और उन मजदूरों के लिए अस्थाई शिविर बनाकर उन्हें वहां ठहराने की योजना पुलिस तैयार कर रही है।

साथ ही उनके खाने-पीने और मेडीकल की सुविधा के लिए भी केन्द्र सरकार के आपदा फंड से व्यवस्था की जाएगी। वहीं अन्य राज्यों के बॉर्डरों पर भी इन मजदूरों का मूवमेंट रोका जा रहा है। सरकार के निर्देशानुसार ऐसे मजदूरों को राज्यों और शहरों की सीमा पर ही 14 दिन के क्वारैंटाईन में रखा जाएगा।

केन्द्र का आदेश चूक हुई तो डीएम और एसपी होंगे जिम्मेदार

लॉकडाउन के दौरान लोगों की आवाजाही को लेकर गृह मंत्रालय ने राज्यों को सख्ती से निपटने का आदेश दिया है। गृह मंत्रालय ने कहा है कि लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने के लिए 24 घंटे निगरानी रहे। मंत्रालय ने सभी राज्यों को यह निर्देश दिए हैं कि किसी भी राज्य की बॉर्डर या हाईवे पर लोगों की आवाजाही न हो। आदेश में यह भी कहा गया है कि क्रियान्वयन में अगर चूक हुई तो उसके लिए जिले के कलैक्टर, डिप्टी कमिश्नर और एसपी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार माने जाएंगे।