शिवपुरी में गंदगी,अधिवक्ता तिवारी ने थमाया कलेक्टर को नोटिस | Shivpuri news

शिवपुरी। शहर के अधिवक्ता विजय तिवारी ने कोरोना वायरस के दौरान शहर में सफाई व्यवस्था को लेकर जिलाधीश महोदया को नोटिस थमाया है। इस नोटिस के दौरान अधिवक्ता विजय तिवारी ने कलेक्टर शिवपुरी को पार्टी बनाते हुए शहर में स्वच्छा व्यवस्था की सुधारने की अपील की है। जिससे कोरोना जैसी महामारी पर अंकुश लगाया जा सके। यहां बता दे कि अधिवक्ता विजय तिवारी कई मामलों में पीएआईएल के जरिए शहर की समस्याएं उठा चुके है। जो नोटिस उन्होंने दिया है उसे हम सशब्द प्राकाशित कर रहे है।

विजय तिवारी पूत्र जानकी प्रकाश तिवारी निवासी साकेत, शक्तिपुरम कॉलोनी खुडा
बनाम
प्रशासक महोदय,नगर पालिका परिषद शिवपुरी
मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर पालिका शिवपुरी
महोदय
हमारे द्धारा आप सूचित के विरूद्ध व्यापक लोकहित में उक्त् बैधानिक सूचना पत्र प्रचलित किया जा रहा है। जो विथाउट प्रज्यूडिस समझा जाबे


यह कि सूचक शहर के प्रतिष्ठित नागरिक होकर वरिष्ठ अधिवक्ता है तथा सूचना द्वारा पूर्व में व्यापक लोकहित से संबंधितकई जनहित याचिका माननीय उच्च न्यायालय एवं अन्य न्यायालयों में प्रस्तुत की है जिसमें से कुछ जनहित याचिकाओं का निराकरण हो चुका है तथा वर्तमान में कुछ जनहित याचिकायें विचाराधान है।

जैसा की सर्वविदित है कि, कोरोना वायरस महामारी घोषित किया जा चुका है, अर्थात वर्तमान परिवेक्ष्य मैं मानवता का सबसे बड़ा शत्रु उक्त कोरोना वायरस है। इलेक्ट्रॉनिक संचार माध्यम एवं प्रिंट मीडिया का उक्त वायरस से बचाव हेतु जारी निर्देशों में सबसे ज्यादा स्वच्छता पर जोर दिया जा रहा है। यह निर्विवादित है कि गंदे की कई रोगों की जननी है। कोरोना वायरस को लेकर जिस प्रकार स्वच्छता अभियान शिवपुरी शहर में चलाया जाना चाहिए उस मामले में नगरपालिका शिवपुरी पूर्णता असफल सिद्ध हुई है। नगर पालिका की स्वास्थ्य शाखा द्वारा स्वच्छता हेतु कोई सार्थक कदम नहीं उठाया जा रहा है।राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के स्पष्ट निर्देश है कि कचरे में आग नहीं लगाई जावे परंतु सफाई कर्मी द्वारा प्रातः काल एकत्रित कचरे में लगाई गई आग से वातावरण प्रदूषित होता है।

शिवपुरी शहर के आवारा कुत्ते, आवारा गाय, सांड का विचारण क्षेत्र बन गया है। ग्रीष्म ऋतु प्रारंभ हो चुकी है और ग्रीष्म ऋतु में कुत्ते के काटने की घटनाओं में अप्रत्याशित वृद्धि होती है। किंतु आवारा कुत्ते एवं आवारा चौपायें पकड़ने में नगरपालिका प्रशासन पूर्णत असफल साबित हो रहा है। उच्च न्यायालय द्वारा शिवपुरी शहर में सूअरों के विनिष्टीकरण हेतु स्पष्ट निर्देश पारित किए गए थे। किंतु विगत 2 वर्ष से सूअर के विनिष्टीकरण के संबंध में मेरे द्वारा दिनांक 19 दिसंबर 2018 को नगरपालिका शिवपुरी को वैधानिक सूचना पत्र प्रचलित किया गया था। लेकिन इसके बावजूद आज तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है।

व्यापक स्तर पर सूअरों का निस्तारण, सूअरों का विनिष्टीकरण एवं व्यापक स्तर पर सफाई अभियान प्रारंभ कर हम किसी हद तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव कर सकते हैं। अन्यथा की दशा में वर्तमान परिपेक्ष्य में शिवपुरी शहर के नागरिकों का जीवन अत्याधिक असुरक्षित है।

अतः वैधानिक सूचना पत्र प्रचलित कर आप सूचित गण से अपेक्षा की जाती है कि नोटिस के उल्लेखित व्यापक लोकहित के मुद्दे पर गंभीरता पूर्वक तत्काल क्रियान्वयन करेंगे। अन्यथा की दशा में लोक हित से जुड़े बिंदुओं को लेकर हम माननीय न्यायालय के शरण लेते हुए बाध्य होना पड़ेगा। जिसकी संपूर्ण जवाबदेही सूचित गण की होगी।
विजय तिवारी एडवोकेट भूतपूर्व अध्यक्ष जिला अभिभाषक संघ शिवपुरी