क्या कोरोना पॉजीटिव मरीज समीर के मामले में सफेद झूठ बोल रह है CMHO अर्जुनलाल | Shivpuri News

सतेन्द्र उपाध्याय /शिवपुरी। आज कोरोना से जंग को लेकर शिवपुरी में 2 खबरे आई हैं। एक गुड तो एक वेड, गुड न्यूज़ तो यह है कि शिवपुरी का पहला कोराना पॉजीटिव मरीज दीपक शर्मा की फैमिली और सोहनलाल लोधी सहित 4 लोगो की कोरोना की जांच रिर्पोट निगेटिव आई है तो खनियाधाना निवासी समीर की जांच रिर्पोट पॉजीटिव आई हैं।

खनियांधाना के समीर की जांच में जब कोरोना की पुष्टि हुई तो प्रशासन ने इतियात के तोर पर समीर के घर के इलाके चांदनी चौक को सील कर दिया हैं। समीर की रिर्पोट के बाद समीर की वीडियो शिवपुरी की सोशल पर वायरल हुई हैं। यह वीडियो पहले की बताई जा रही हैं। इस वीडिया में समीर अपनी जांच की मांग कर रहा हैं। इसके बाद ही सीएमएचओ अर्जुनलाल शर्मा की भी वीडियो भी वायरल हुई हैं।

कोरोना जैसे संवेदनशील मामले पर प्रशासन की सच्चाई से आपको अबगत कराना चाह रहे है। जहां हालात यह है कि आज जिले में दूसरा कोरोना पॉजीटिव मरीज की पुष्टि हुई है। यह मरीज जिसका सेम्पल तक लेने के लिए प्रशासन तैयार नही था। परंतु जब युवक ने अपना सेम्पल लेने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। तब कही जाकर मीडिया सक्रिय हुई और युवक का सेम्पल लिया गया। जब युवक की रिपोर्ट आई तो प्रशासन के हाथ पैर फूल गए।

हुआ दरअसल ऐसा कि समीर खान पुत्र अय्यूब खान निवासी चांदनी चौक बीते दिनो हैदरावाद से संपर्क क्रांति से 16 मार्च को खनियांधाना आया था। युवक ने शोसल मीडिया पर अपलोड किए वीडियों में बताया है कि वह आने के बाद से ही अपने आप को आईसोलेट किए हुए है। वह न तो घर बालों से मिल रहा है। वह खाना भी खुद लेकर खा रहा है।

युवक का आरोप था कि लौटने के बाद से उसे स्वयं में कोरोना के लक्षण दिखाई लग रहे थे। जिसके चलते समीर ने खनियांधाना बीएमओ से संपर्क किया। जिसपर बीएमओं ने भी महज यह कहकर कि आप अपने घर में कोरंटाईन हो जाईए। परंतु युवक ने उसके बाबजूद भी कई बार फोन किए तो हर बार टीम यही बोलती रही कि आपको लेने एम्बूलेंस आ रही है। आप तैयार रहे। परंतु एम्बूलेंस देर रात तक नहीं पहुंची।

उसके बाद युवक ने अपना ही एक वीडियों बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड किया। उसके बाद इस युवक को लेकर टीम शिवपुरी पहुंची। बताया जा रहा है कि यहां भी सीएमएचओं ने महज यह कहकर जांच सेम्पल लेने से मना कर दिया कि यह सिर्फ नौंटकी है। ऐसे कोई भी लक्षण युवक में नहीं लग रहे है। परंतु युवक ने जिद की तब कही जाकर युवक का सेम्पल लिया। जब रिपोर्ट आई तो प्रशासन चौक गया। उक्त युवक कोरोना पोजीटिव आया है।

दीपक के मामले में भी प्रशासन ने पूरी लापरवाही की थी। इस दौरान प्रशासन ने दीपक का सेम्पल लेकर उसे घर पर ही छोड दिया था। जहां युवक अपने पूरे मोहल्ले सहित बाजार तक में घूमता रहा। जब उसकी रिपोर्ट नोर्मल आई तब कही जाकर उक्त युवक को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उठाया। इसके साथ ही पूरे जिले से खबरें आ रही है कि लोग अपनी जांच कराने के लिए सामने आ रहे है। परंतु जिला प्रशासन अधिकतर लोगों को महज सेल्फ आईसोलेट की सलाह देकर घर बापिस भेज रहे है।

आज समीर के कोरोना पाजीटिव की खबर आई तो सोशल पर समीर का पुराना विडियो पर अपलोड होकर शहर के ग्रुपो में दौडने लगा। इसमे समीर प्रशासन से अपने टेस्ट की गुहार लगा रहा है। इसके बाद इसके बाद सीएमएचओ शिवपुरी अर्जुनलाल शर्मा ने भी एक विडियो अखबारो के दफ्तरो को अपलोड कर दिया।

जिसमें सीएमएचओ अपनी सफाई पेश कर रहे हैं कि प्रशासन ने अपने सूत्रो से समीर को चिन्हित किया था। उसकी जांच प्रशासन ने कराई और उसे अपने घर में ही रहने के लिए कहा गया लेकिन समीर ने यह नही माना ओर अपनी किराने की दुकान खोल ली। प्रशासन ने समीर की दुकान में ताला लगाया और उसे समझाया कि वह जिस ट्रेन की बोगी में बैठकर अपने घर आया हैं उसमें कोरोना पॉजीटिव मरीज मिले हैं। दोनो ही वीडियो सोशल पर वायरल कौन सच और कौन झूठ बोल रहा हैं पता नही हैं,लेकिन यह बात मीडिया दावा कर रही हैं कि समीर की वीडियो उसके जांच की पूर्व की हैं।

ग्रामीण कल से दे रहे है 100 आदिवासीयों से बाहर आने की सूचना,अभी तक नहीं पहुंची टीम
यह हालात शिवपुरी की नहीं अपितु पूरे जिले की है। जहां हालात यह है कि प्रशासन इस महामारी के मामले में ही गंभीरता नहीं दिखा रहा। इसी के चलते बीते रोज ग्राम दुल्हारा में लगभग 100 आदिवासी वाहर से काम पर से लॉकडाउन के बाद लौट कर आए है। 

इसे लेकर ग्रामीण चिंतिंत है। ग्रामीण लोगों को घरों से बाहर न निकलने की कह रहे है। परंतु वह पूरे गांव में घूम रहे है। इसके चलते ग्रामीण पोहरी बीएमओं सहित पूरे प्रशासनिक अपले को उक्त लोगों की सूचना दे चुके है। परंतु अभी तक कोई भी उक्त लोगों के पास नहीं पहुंच सका है।