स्वास्थय शिविर:vमोबाईल प्रकोप, एक साथ 85 छात्राओ के लगे चश्मे, बांटे चश्मे

शिवपुरी। शहर के शासकीय महारानी लक्ष्मीबाई कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल की 85 छात्राओं को एक साथ चश्मे मुफ्त बांटे गए हैं। छात्राओं चश्मे बांटे जाने के बाद विशेषज्ञ डॉक्टर से बात करने पर पता चला है कि इन दिनों लोग मोबाइल का अधिक उपयोग करने लगे हैं।

नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ गिरीश चतुर्वेदी ने मीडिया को बताया कि मोबाइल पर ज्यादा वक्त बिताने की वजह से नजर कमजोर हो रही है। इसलिए लोगों को समय रहते संभल जाना होगा। खास तौर पर बच्चों को मोबाइल से दूरी बनाना जरूरी है। माता-पिता को यह ख्याल रखना होगा कि वे अपने बच्चों को मोबाइल का इस्तेमाल ज्यादा देर तक ना करने देंगे।

जानकारी के अनुसार गर्ल्स स्कूल कोर्ट रोड शिवपुरी में पिछले दिनों कलेक्टर अनुग्रहा पी. के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने 14 नवंबर को स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगाया था। शिविर में स्कूल की 85 छात्राओं की नजर कमजोर निकली। इसके बाद छात्राओं को 12 दिसंबर से 28 दिसंबर के बीच एक-एक करके बारीकी से परीक्षण किया। फिर दो महीने में चश्मे बनवाए और 27 फरवरी को छात्राओं को पहनाए गए। स्वास्थ्य विभाग और शक्तिशाली महिला संगठन द्वारा चश्मे मुफ्त वितरित किए गए हैं।

इस मौके पर सीएमएचओ डॉ अर्जुनलाल शर्मा ने छात्राओं को सलाह दी कि उपलब्ध कराए गए चश्मों का प्रयोग करें। जिससे आपकी आखों की रोशनी कम न हो। अगर नियमित चश्मा लगाती रहीं और संतुलित आहार व हरे पत्तेदार सब्जियों के नियमित प्रयोग करती रहीं तो एक दिन आपका चश्मा हट भी सकता है।

पढ़ाई के साथ छात्राएं खान-पान पर ध्यान दें
चश्मा वितरण कार्यक्रम में सीएमएचओ डॉ एएल शर्मा ने छात्राओं से कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ वे अपने खान-पान पर भी ध्यान दें। नींद पूरी लें और पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करें। हरी सब्जियां खाने से आंखों की रोशनी ठीक रहती है। सीएमएचओ डॉ एएल शर्मा व स्कूल के व्याख्याता कौशल गौतम ने सभी छात्राओं को चश्मे पहनाए।

मोबाइल का ज्यादा देर उपयोग न करें
आजकल बच्चे मोबाइल ज्यादा गेम खेलते हैंं। नजदीक से मोबाइल की स्क्रीन ज्यादा देर तक देखने से आंखों की रोशनी कमजोर पड़ जाती है। इसलिए मोबाइल का ज्यादा देर उपयोग ना करें। बच्चियों में अक्सर महावारी आने पर शरीर में कमजोरी हाे जाती है। कमजोरी के कारण आंखों की रोशनी भी कम होने लगती है। सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का खाना समय व पर्याप्त मात्रा में करें।
डॉ गिरीश चर्तुवेदी, नेत्र रोग विशेषज्ञ, मेडिकल कॉलेज शिवपुरी