सूखी सिंध नदी में पानी देखकर मन हुआ प्रफुल्लित: नरोत्तम मिश्रा | kolaras News

शिवपुरी। मध्य प्रदेश सरकार में सिंचाई मंत्री रहते हुए पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा कोलारस विधानसभा क्षेत्र की पेयजल एवं सिंचाई समस्या के लिए सिंध नदी पर स्टॉप डेम बनाने के लिए विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी की मांग पर करोड़ों रूपए स्वीकृति किए गए थे। उस राशि से सिंध नदी पर बने स्टॉप डेम के कारण किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध हो गया जिसके कारण किसानों के खेतों में फसल लहला रही हैं। इसी तारतम्य में बाबू सिंह यादव रिजौदी वाले के फार्म हाउस पर पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा एवं स्थानीय विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी का अभिनंदन समारोह आयोजित किया गया।

अभिनंदन समारोह में पूर्व मंत्री मिश्रा ने  सैकड़ों की संख्या में उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे बहुत खुशी हो रही हैं कि जिस सिंध नदी में बच्चे क्रिकेट खेला करते थे आज उसी नदी में कल-कल और छल-छल कर पानी की ध्वनि सुनाई पढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी ने इस नदी पर स्टॉप डेम निर्माण के लिए मुझे स्टीमेट दिया था उस समय यह बिल्कुल ऐहसास नहीं था कि उनके द्वारा स्वीकृत की गई राशि से सूखी नदी में इस तरह पानी रोका जा सकता हैं।

इस अवसर पर विधायक रघुवंशी ने अपने उदबोधन के दौरान पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा का धन्यवाद देते हुए कहा कि दादा के द्वारा स्वीकृत की गई राशि के कारण आज क्षेत्र के किसानों को सिंचाई और पीने के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध हो सका हैं। श्री रघुवंशी ने आगे कहा कि आज भले ही प्रदेश में भाजपा की सरकार नहीं हैं, लेकिन केन्द्र में सरकार उन्हीं की हैं। उन्होंने जनता को आश्वासन देते हुए कहा कि केन्द्र में बैठे कैबिनेट मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर से आग्रह करके क्षेत्र की सडक़ एवं अन्य समस्याओं के लिए राशि स्वीकृत कराकर लेकर आयेंगे।  

किसानों द्वारा किए गए अभिनंदन समारोह में पधारे पूर्व मंत्री मिश्रा ने आगे कहा कि उनकी राशि के द्वारा सिंध नदी पर स्टॉप बनने के बाद नदी में रूके हुए पानी को देखकर मन प्रसन्न होकर  प्रफुल्लित हो उठा। उन्होंने भाजपा सरकार की  उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि एक उनकी सरकार थी। जिसने 7 लाख हेक्टर की सिंचाई को बढ़ा कर 40 लाख हेक्क्टर जमीन को सिंचित किया। अब आपके सामने ये सरकार हैं जिसने अपने सवा साल के कार्यकाल में एक बीघा जमीन पर सिंचाई  के लिए कोई काम नहीं किया।

झूठ बोलकर सरकार में आने वाली ये कांग्रेस सरकार ने  किसानों से बायदा किया कि सरकार आने के बाद 10 दिन में  दो लाख रूपए तक का कर्जा उनका माफ कर दिया जाएगा। लेकिन सरकार में बैठने के बाद आज 15 महिने में भी किसानों के दो लाख रूपए तक का कर्जा माफ नहीं कर सकी। किसानों के कर्जा माफ को लेकर कांग्रेस के पूर्व मंत्री लक्ष्मण सिंह, दिग्विजय सिंह, गोविन्द सिंह अन्य नेता अपनी सरकार पर कर्ज माफी को लेकर सार्वजनिक रूप से बयान दे रहे हैं। इतना ही नहीं वे सरकार पर दवाब बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

इसके बाद भी 50 हजार रूपए से अधिक माफ नहीं किया जा सका। श्री मिश्रा ने चुटकी भरे अंदाज में कहा कि पानी से बिजली बनती हैं, लेकिन दिल्ली में पानी से सरकार बना दी गई। शिवपुरी गुना के पूर्व सांसद ने भिण्ड में कहा कि 50 हजार तक के कर्जे माफ नहीं किए हैं। वहीं कांग्रेस के नेता मंत्री सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिना पैसे लिए दिए कोई काम नहीं हो रहे हैं। सपा का विधायक कहता हैं कि लिफाफा लेकर जाओ तभी ट्रांसफर होते हैं। इनका वन मंत्री कहता हैं सबसे बड़ा शराब माफिया व माईनिंग माफिया दिग्विजय सिंह हैं। ये मैं नहीं कह रहा हैं उसने कहा था। ,

इस बात का आज तक कांग्रेस सरकार के किसी भी व्यक्ति ने खण्डन तक नहीं किया? मुख्यमंत्री के स्टाफ के यहां 6 माह में छापा पड़ता तो करोड़ों रूपए का ट्रांजेक्शन पकड़ा जाता हैं। पूरे प्रदेश के अंदर लूट मची हुई हैं। सूखा पडऩे पर शिवराज सरकार तत्काल राहत राशि जारी करती थी और हर साल जब गेंहू की खरीदी होती थी तो टाईम पर बोनस मिलता था। अभी तक पिछले वर्ष का गेंहू का बोनस आज तक नहीं मिला हैं।

इस अवसर पर मंच का संचालन वरिष्ठ भाजपा नेता रामू बिदंल द्वारा किया गया। इस अवसर पर मंचासीन लोगों में भाजपा जिलाध्यक्ष राजू बाथम, संभागीय संगठन मंत्री आशूतोष तिवारी, पूर्व विधायक ओम प्रकाश खटीक, अजीत जैन, सोनू बिरथरे, ओम प्रकाश जैन ओमी, बृजेन्द्र रघुवंशी,अजय रघुवंशी, शिखर धाकड़, दिलीप मुदगल सहित सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।