कैसे टोल पर बूूम को तोडकर कर्मचारियों को रौंदते निकली सिकरवार ट्रेवल्स की बस, VIDEO

शिवपुरी। पूूरणखेडी टोल प्लाजा प्रारंभ हुआ है। तब से ही इसका नाता विबादों से रहा है। इसी विबाद में एक ओर मामला जुड गया है। जिसमें एक बस के ड्रायवर ने गुण्डागिर्दी करते हुए बूम को तोडते हुए टोल के कर्मचारीयों को रौंदते हुए निकालकर ले गया। इस मामले की शिकायत टोलकर्मीयों ने पुलिस थाना कोलारस में की। जहां पुलिस ने पीडित की शिकायत पर आरोपी बस के ड्रायवर के खिलाफ मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।

जानकारी के अनुसार सिकरवार बस क्रमांक एमपी 07 पी 1308  शिवपुरी से गुना की ओर जा रही थी। बिना फास्टटैग की लाइन लंबी लगी हुई थी। जिसके चलते बस का चालक उक्त बस को फास्टटैग न लगा होने के बाबजूद भी उक्त बस फास्टेग बाली लाईन पर जा पहुंची। इस लाईन पर से वाहन गुजारने पर दो गुना चार्ज देना होता है। जबकि बस का चालक उसे साधारण लाईन के हिसाब से टोल देने लगा।

जब टोल प्रबंधन ने उससे कहा कि अगर उसे बिना एस्ट्रा चार्ज के जाना है तो बिना फास्टेग बाली लाईन से ले जाए। इस लाईन से गाडी निकलेगी तो उसे जुर्माना देना होगा। यह बात बस संचालक को रास नहीं आई और उसने गुस्से में बूम को तोडते हुए बस को निकाला। जिसके चलते बस की चपेट में टोल के तीन कर्मचारी आ गए। इस घटना के दारौन टोल के कर्मचारी  दीपक नामदेव,रामसेवक कुशवाह और गौरव श्रीवास्तव को चोटे आई। जिन्हे उपचार के लिए कोलारस उपस्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया।

इस मामले की शिकायत टोल प्रबंधन ने पुलिस थाना कोलारस में की। जहां पुलिस ने बस के स्टाफ की रिपोर्ट पर बस चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।