CAA के समर्थन में शिवपुरी की सडकों पर उमडा जनसैलाब | Shivpuri News

शिवपुरी। भारत की राजनीति में नागरिक संशोधन विधेयक 2019 सीएए के समर्थन में जन जागरण मंच शिवपुरी द्वारा विशाल पद यात्रा रैली अमर शहीद तात्याटोपे समाधि स्थल से निकाली गई। रैली से पूर्व कार्यक्रम के मुख्य वक्ता समाजसेवी शिरोमणी दुबे, कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विपिन शर्मा, क्षेत्रीय सांसद कृष्णपाल सिंह यादव एवं अन्य अतिथियों ने अमर शहीद तात्याटोपे की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

तत्पश्चात मुख्य वक्ता शिरोमणी दुबे सेवानिवृत्त सर्व शिक्षा अभियान के परियोजना समन्वयक ने हजारों की संख्या में उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि नागरिक संशोधन विधेयक नागरिकता छीनने के लिए नहीं बल्कि देने के लिए हैं, राजनैतिक स्वार्थ के चलते लोगों को भ्रमित किया जा रहा हैं। जिसका नतीजा विरोध स्वरूप देश में उपद्रवियों द्वारा विरोध प्रदर्शन के दौरान तोड़ फोड़ कर शासकीय संपत्ति को क्षति पहुंचाने का कार्य किया हैं। श्री दुबे ने आगे कहा कि देश विरोधी नारे लगाकर विरोध करने वाले यह समझ लें कि अब वे अपने मनसूबों में सफल नहीं हो सकेंगे। क्योंकि देश नई दिशा की ओर चल पड़ा हैं।

मुख्य वक्ता शिरोमणि दुबे ने आगे कहा कि रावलपिंडी के हुक्मरानों का पिंडदान करने का समय आ गया हैं, लेकिन कुछ गद्दार किस्म के घुसपैठी खाते, पिते, सड़ते, मरते भारत देश में हैं लेकिन भाषा पाकिस्तान की बोलते हैं और भारत देश में ताबाही का मंजर खड़ा करते हैं जो इस्लामिक, तुष्टिकरण, कम्युनिष्ट, माक्र्सवादी, सपाई, बसपाई, ममता, ओवैसी और केजरीवाल जैसे हुक्मरानों को सबक सिखाने का समय आ गया हैं, हिन्दुस्तान नागरिकता संसोधन विधेयक के समर्थन में प्रत्येक हिन्दुस्तानी नागरिक खड़ा हैं।

उन्होंने आगे कहा कि जो लोग देश में नागरिकता विधेयक के विरोध में भ्रम फैलाकर विश्वविद्यालय जैसे जेएनयू, जामियाइस्लामिया को राजनीति का अखाड़ा बनाकर छात्रों को भ्रमित करने का कार्य कर रहे हैं और कह रहे हैं कि सीएए का विधेयक पास होता हैं तो मुस्लिम लोगों की नागरिकता छीनकर उन्हें भगा दिया जाएगा और उनकी संपत्ति हड़प ली जाएगी, लेकिन प्रधानमंत्री सहित गृहमंत्री बार-बार, अनेक बार अपने उद्बोधनों में स्पष्ट कर चुके हैं कि यह विधेयक नागरिकता देने के लिए हैं न कि किसी वर्ग विशेष की नागरिकता छीनने के लिए।

लेकिन टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग आपसी वेमनश्यता फैलाकर देश में सन् 1947 जैसे हालात पैदा  कर तोड़ फोड़ कर सत्ता प्राप्त करने प्रयास कर रहे हैं। लेकिन तुम कितने भी संगठित हो जाओ किन्तु नागरिकता संशोधन विधेयक न तो बदलेगा और न ही उसमें संशोधन होगा यह विधेयक इस्लामिक देश पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बांगलादेश में धार्मिक आधार पर प्रताडि़त हिन्दु, सिख, ईसाई, पारसी, जैन को भारत में नागरिकता देने के लिए हैं और अवैध रूप से भारत के घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर का रास्ता दिखाने के लिए हैं।

जन जागरण मंच के बैनर तले विभिन्न समाजसेवी संगठन, राजनैतिक, मातृ शक्ति, व्यापारिक,  संगठन सहित आम जनता ने सड़कों पर उतर कर विधेयक के समर्थन में अपना समर्थन दिया। रैली वीर तात्याटोपे समाधि स्थल से प्रारंभ होकर, राजेश्वरी रोड़, गुरूद्वारा चौक, माधव चौक, कोर्ट रोड़, अस्पताल चौराहा, कोतवाली रोड़ से होते हुए जयस्तंभ चौक पहुंची जहां वंदे मातरत गायन के साथ समापन किया। कार्यक्रम का संचालन रमेश शिवहरे और आभार व्यक्त उमेश भारद्वाज द्वारा किया गया।